Coronavirus outbreak in India Latest Update : कोरोना वायरस (Coronavirus) संक्रमण की दूसरी लहर का कहर लगातार बढ़ता जा रहा है. हर राज्‍य में कोरोना (Corona) संक्रमित मरीजों की संख्‍या तेजी से बढ़ रही है. हालात इतने खराब हो चुके हैं कि अस्‍पताल में मरीजों को बेड तक नहीं मिल पा रहे हैं और कोरोना मरीज अस्‍पताल के बाहर ही दम तोड़ दे रहे हैं. स्वास्थ्य मंत्रालय (Health Ministry) की ओर से जारी आंकड़ों के मुताबिक, कोरोना के नए मामले सामने आने के बाद देश में कुल संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़र एक करोड़ 47 लाख 88 हजार 109 हो गई है. पिछले 24 घंटे में कारोना वायरस संक्रमण के 2,61,500 नए मामले सामने आए हैं, जबकि 1501 लोगों की मौत हुई है.  स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक, देश में अब तक 1 करोड़ 28 लाख 9 हजार 643 लोग रिकवर हो चुके हैं, जबकि इस समय 18 लाख 1 हजार 316 एक्टिव केस हैं. पिछले 24 घंटे में हुई मौतों के बाद देश में मृतकों की संख्या बढ़कर अब 1 लाख 77 हजार 150 हो गई है.

कोरोना संक्रमण के राज्‍यवार आंकड़े.
बता दें कि महाराष्ट्र में शनिवार को कोरोना वायरस के अब तक के सर्वाधिक 67,123 नए मामले सामने आए. राज्य के स्वास्थ्य विभाग ने कहा कि अब राज्य में संक्रमण के कुल मामले बढ़कर 37,70,707 हो गए हैं. इसके अलावा, राज्य में महामारी के कारण 419 मौतें हुईं, जिसके बाद मृतकों की संख्या बढ़कर 59,970 हो गई है. राज्य में शुक्रवार को 63,729 मामले सामने आए थे. विभाग ने कहा कि दिन के दौरान 56,783 रोगियों को छुट्टी दी गई, जिससे राज्य में अब तक ठीक हो चुके लोगों की संख्या बढ़कर 30,61,174 हो गई.

उत्‍तर प्रदेश में 27,360 लोगों की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव
उत्‍तर प्रदेश में कोरोना के हालात बिगड़ते ही जा रहे हैं. शनिवार को 27,360 लोगों की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई, जबकि 103 लोगों की मौत हो गई. इस दौरान 6,429 लोग रिकवर हुए. अब तक यहां 7.93 लाख लोग संक्रमित पाए जा चुके हैं. इनमें 6.33 लाख ठीक हो चुके हैं, जबकि 9,583 मरीजों की मौत हो गई है.

राजधानी दिल्‍ली में 167 लोगों ने कोरोना संक्रमण से तोड़ा दम
राजधानी दिल्‍ली में कोरोना के नए मामले हर दिन नया रिकॉर्ड बना रहे हैं. शनिवार को 24,375 लोग कोरोना संक्रमित पाए गए, जबकि 167 लोगों की जान चली गई. इस दौरान 15,414 लोग रिकवर हुए. अब तक यहां 8.28 लाख लोग संक्रमित हो चुके हैं. इनमें 7.46 लाख ठीक हो चुके हैं, जबकि 11,960 मरीजों की जान चली गई.