भाजपा ने जिला परिषद चुनावों के लिए 11 जिलों में अपने उम्मीदवारों की घोषणा कर दी है। यह सूची प्रदेशाध्यक्ष डॉ. सतीश पूनियां के निर्देश पर रविवार को जारी की गई। इनमें अजमेर, बाड़मेर, बीकानेर, बांसवाड़ा, बूंदी, डूंगरपुर, जैसलमेर, झालावाड़, राजसमंद, उदयपुर और प्रतापगढ़ है। गौरतलब है कि राज्य निर्वाचन आयोग ने करीब 15 दिन पहले प्रदेश के 21 जिलों में जिला परिषद तथा पंचायत समिति के चुनाव करवाने की घोषणा की थी।

9 नवंबर को है नामांकन का आखिरी दिन, 8 दिसंबर को मतगणना
ये चुनाव चार चरणों में होंगे। चुनावों की अधिसूचना 4 नवंबर को जारी की गई थी। चारों चरणों के लिए 4 से 9 नवंबर तक नामांकन भरे जाएंगे। नामांकन पत्रों की जांच 10 नवंबर को होगी और नाम वापसी 11 नवंबर दोपहर 3 बजे तक हो सकेगी। चुनाव का पहला चरण 23 नवंबर को होगा। मतगणना 8 दिसंबर को सुबह 9 बजे से शुरू होगी। जिला प्रमुख और प्रधान का चुनाव 10 दिसंबर और उप जिला प्रमुख और उप प्रधान का चुनाव 11 दिसंबर को होगा।

इन चुनावों में 21 जिलों में 636 जिला परिषद सदस्य और इन जिलों की 222 पंचायत समितियों के 4371 पंचायत समिति सदस्य चुने जाएंगे। मतदान के लिए 2 करोड़ 41 लाख 87 हजार से अधिक मतदाताओं की सूची तैयार की है। ये सम्पूर्ण चुनाव ईवीएम से करवाए जाएंगे।

इन 21 जिलों में होंगे चुनाव
अजमेर, बांसवाड़ा, बाड़मेर, भीलवाड़ा, बीकानेर, बूंदी, चित्तौडगढ, चूरू, डूंगरपुर, हनुमानगढ़, जैसलमेर, जालौर, झालावाड़, झुंझुनूं, नागौर, पाली, प्रतापगढ़, राजसमंद, सीकर, टोंक और उदयपुर।

चार चरण में होंगे मतदान

  • पहला चरण: 23 नवंबर 2020
  • दूसरा चरण: 29 नवंबर 2020
  • तीसरा चरण: 01 दिसंबर 2020
  • चौथा चरण: 05 दिसंबर 2020

जयपुर, जोधपुर सहित इन 12 जिलों में नहीं होंगे चुनाव
अलवर, भरतपुर, बारां, दौसा, धौलपुर, जयपुर, जोधपुर, करौली, कोटा, श्रीगंगानगर, सवाई माधोपुर और सिरोही जिलों में चुनाव नहीं होगा। क्योंकि इन जिलों में 18 नई नगर पालिकाएं बनाई गई है। इन नगर पालिकाओं के बनने से इन जिलों की 48 ग्राम पंचायतें प्रभावित हुई है। हाईकोर्ट में विचाराधीन याचिकाओं में इन नवगठित नगर पालिकाओं के मामले में कोर्ट से अंतरिम स्थगन प्रदान कर दिए जाने के कारण चुनाव नहीं करवाया जा रहा।