वाशिंगटन. अमेरिका (US) के निवर्तमान राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) को चारों तरफ से निराशा ही हाथ लग रही है. अमेरिकी संसद कैपिटल हिल में अपने समर्थकों को हिंसा (US Capitol Riot) के लिए उकसाने के आरोपों से घिरे ट्रंप को Facebook और Twitter के बाद अब YouTube ने भी बड़ा झटका दे दिया है. यूट्यूब ने न केवल डोनाल्‍ड ट्रंप के आधिकारिक चैनल के नए वीडियो को डिलीट कर दिया बल्कि उन्‍हें हिंसा भड़काकर कंपनी की नीतियों के उल्‍लंघन के लिए चेतावनी भी जारी की है. इसी के साथ यूट्यूब ने ट्रंप के चैनल को एक हफ्ते के लिए सस्पेंड भी कर दिया है. यूट्यूब ने मंगलवार शाम को कहा कि ट्रंप के चैनल द्वारा मंच की नीतियों का उल्लंघन किया गया है

इससे पहले ट्विटर ने कैपिटल हिल हिंसा के बाद अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के निजी अकाउंट को स्थायी रूप से बंद कर दिया था. इसके बाद ट्रंप ने अमेरिकी राष्ट्रपति के आधिकारिक ट्विटर हैंडल से ट्वीट कर माइक्रोब्लॉगिंग साइट पर जमकर हमला बोला. ट्रंप के चैनल पर हाल ही में एक वीडियो पोस्ट हुई थी, जिससे हिंसा भड़की थी. YouTube ने सीएनएन को बताया और कहा कि अब वह वीडियो हटा दिया गया है. हालांकि, YouTube ने ट्रंप पर लिए गए इस फैसले को लेकर अधिक जानकारी नहीं दी और कहा गया है कि एक सप्ताह का समय समाप्त होने के बाद, आगे निर्णय पर फिर से विचार होगा. बता दें कि YouTube एकमात्र ऐसा प्रमुख सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म बचा था, जिसने ट्रंप को निलंबित नहीं किया था.

ट्रंप ने लगाए आरोप
ट्रंप ने सोशल मीडिया कंपनियों के खिलाफ डेमोक्रेट्स और लेफ्ट खेमे के साथ मिलकर फ्री स्पीच को खत्म करने की कोशिश का आरोप लगाया. ट्रंप ने यह भी कहा कि वह जल्द ही अपना नया प्लेटफॉर्म तैयार करने के बारे में सोच रहे हैं. ट्रंप ने अमेरिका के राष्ट्रपति के आधिकारिक ट्विटर हैंडल से ट्वीट कर ट्विटर पर हमला बोला. उन्होंने लिखा, 'मैं लंबे वक्त से कहता आया हूं कि ट्विटर फ्री स्पीच को बैन कर रहा है और आज उन्होंने डेमोक्रेट और कट्टर लेफ्ट के साथ मिलकर मुझे चुप करने के लिए मेरे अकाउंट को बंद कर दिया.' उनके फेसबुक और इंस्टाग्राम अकाउंट पर पहले ही दो हफ्तों या अनिश्चितकाल के लिए प्रतिबंध लग चुका है. यहां तक कि उनके कैंपेन के अकाउंट @TeamTrump को भी बंद कर दिया गया है.
YouTube भी हुआ परेशान

एक YouTube प्रवक्ता ने एक बयान में कहा, सावधानीपूर्वक समीक्षा के बाद और हिंसा के लिए चल रही आशंकाओं के बारे में चिंताओं के प्रकाश में, हमने डोनाल्ड जे ट्रंप चैनल पर अपलोड की गई नई सामग्री को हटा दिया और हिंसा भड़काने के लिए हमारी नीतियों का उल्लंघन करने के लिए कार्रवाई जारी है. परिणामस्वरूप, हमने, चैनल पर अब नए वीडियो या लाइव स्ट्रीम को कम से कम सात दिनों तक अपलोड करने से रोका है, जिसे बढ़ाया जा सकता है.

वीडियो-शेयरिंग प्लेटफ़ॉर्म ने कहा कि वह ट्रंप के चैनल पर वीडियो के नीचे टिप्पणियों को अक्षम करने का अतिरिक्त कदम उठाएगा. उधर ट्रंप ने आगे लिखा कि ट्विटर प्राइवेट कंपनी होगी लेकिन बिना सरकार के धारा 230 के तोहफे के वह ज्यादा वक्त तक टिक नहीं सकेगी. ट्रंप का कहना है कि उन्हें पहले ही पता था कि यह होगा और वह पहले से दूसरी साइट्स से बात कर रहे हैं और जल्द ही बड़ा ऐलान किया जाएगा. निकट भविष्य में अपना खुद का प्लेटफॉर्म बनाने की संभावनाओं को देखा जा रहा है.