नई दिल्ली:योगी सरकार ने फ्लैट में रहने वाले लोगों के लिए एक बड़ा फैसला लिया है.फ्लैट्स में रहने वाले लोग अब अलग से अपना बिजली कनेक्शन ले पाएंगे. यूपी के बिजली मंत्री श्रीकांत शर्मा ने बताया कि लोगों की ये शिकायत थी कि बिजली बिल को लेकर बिल्डर उनका शोषण और उत्पीड़न करते हैं. बिजली के इस्तेमाल पर उनसे मुंहमांगी कीमत ली जाती है. इस फैसले से अब लाखों फ्लैट मालिकों और किराएदारों को राहत मिलेगी।

यूपी विद्युत आयोग ने बिल्डरों को सिंगल प्वांट बिजली कनेक्शन देने की व्यवस्था खत्म करने का फैसला किया है. यूपी सरकार ने तब लिया जब बड़ी संख्या में सरकार को शिकायतें मिलने लगी थी. सरकार के इस फैसले के बाद बहुमंजिला इमारतों में रहने वाले अब विद्युत वितरण कंपनियों से सीधे कनेक्शन ले पायेंगे. जिन लोगों ने पहले से सिंगल प्वांट बिजली कनेक्शन ले रखा है वैसे उपभोक्ता अगले साल के 31 मार्च तक इसे बदल सकते हैं. बिजली बिल को लेकर बिल्डर अब तक अपनी मनमानी करते रहे हैं।

बिजली मंत्री श्रीकांत शर्मा की पहल पर विद्युत नियामक आयोग की बैठक हुई. मीटिंग के बाद आयोग के अध्यक्ष राज प्रताप सिंह ने इस फैसले का एलान किया. यूपी सरकार के इस नए फैसले से लाखों फ्लैट मालिकों और किराएदारों को राहत मिलेगी. विद्युत अधिनियम 2003 की धारा 43 के मुताबिक, किसी भी उपभोक्ता को बिजली कनेक्शन लेने से रोका नहीं जा सकता है. विद्युत नियामक आयोग ने इसी नियम के हवाले से नया फैसला जारी कर दिया है।

अब तक बिल्डर के ज़रिए उन्हें बिजली कनेक्शन मिलता था. कनेक्शन से लेकर बिजली खपत के हर यूनिट पर बिल्डर इनसे मनमाना पैसा वसूलते थे. सरकारी रेट से अलग फ्लैट में रहने वालों को बिजली बिल देना पड़ता था।