टोंक, जिला कलेक्टर सूबे सिंह यादव ने कहा कि मनरेगा योजना या अन्य कहीं भी 90 दिन काम करने पर श्रमिकों का ई-मित्र पर आॅन लाइन श्रमिक कार्ड बनाया जाता है। इसके लिए पंचायत से जानकारी प्राप्त कर सकते हैं। कार्ड से कई योजनाओं का लाभ लिया जा सकता है। यादव शुक्रवार को ग्राम पंचायत बम्बोर में आयोजित रात्रि चौपाल में ग्रामीणों को इस योजना की जानकारी दे रहे थे।

रात्रि चौपाल में उन्होंने कहा कि कोई भी महिला-पुरुष मनरेगा योजना या किसी ठेकेदार के सड़क, मकान निर्माण या अन्य संनिर्माण कार्य 90 दिन करने पर इस योजना के लिए पात्र हो जाता है। इस योजना में पुत्र के जन्म होने पर 20 हजार रुपए, पुत्री के जन्म होने पर 21 हजार रुपये दिये जाते है। साथ ही पुत्री के विवाह के लिए 51 हजार रुपये की सहायता भी मिलती है। श्रमिककार्ड धारी के बच्चों को स्कॉलरशिप भी प्रदान की जाती है। जिला कलेक्टर नेे कहा कि जिले मेे शहरी व ग्रामीण क्षेत्र में राजकीय कार्मिक घर-घर जाकर प्रत्येक विशेष योग्यजन की पहचान करेंगे।

उनको रजिस्ट्रेशन के लिए ई-मित्र अथवा अटल सेवा केन्द्र तक पहुंचाएंगें। उन्होने कहा कि 24 सिंतबर तक प्रत्येक विशेष योग्य जन का सर्वे कर ई -मित्र केन्द्रों के माध्यम से रजिस्ट्रेशन करवाया जाएगा। साथ ही 25 सितंबर से पंचायत समिति स्तर विशेष शिविर लगाकर 21 श्रेणियों के विशेष योग्यजनों के निशक्तता प्रमाण पत्र जारी किए जाएंगे। जिला कलक्टर ने ग्राम पंचायत की चिकित्साधिकारी से भामाशाह स्वास्थ्य बीमा योजना मे लाभान्वित लोगों की जानकारी ली।