जयपुर, भाजपा से राज्यसभा का टिकट ओबीसी, एसटी या एससी के नाते नहीं बल्कि एक कार्यकर्ता के रूप में मुझे मिला है, और मैंने राज्यसभा के लिए नामांकन दाखिल कर दिया है। यह कहना है कि भाजपा से राज्यसभा उम्मीदवार मदनलाल सैनी का। राजस्थान विधानसभा में पत्रकारों से बातचीत में उन्होंने कहा कि वह वर्गों को बांटकर नहीं देखते है। उन्होंने कहा कि सबसे पहले वह भाजपा के कार्यकर्ता है। उन्होंने कहा कि 1952 में संघ के कार्यकर्ता थे और फिर भारतीय मजदूर संघ में लंबे वक्त तक रहे।

इसके बाद वर्ष 1990 में भाजपा में शामिल हुए। सैनी ने कहा कि मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे, प्रदेश संगठन महामंत्री चंद्रशेखर और पार्टी प्रदेशाध्यक्ष अशोक परनामी ने मुझे जैसे सामान्य कार्यकर्ता को राज्यसभा भेजने का जो निर्णय लिया है, वह भाजपा के समस्त कार्यकर्ताओं में जोश भरने के लिए काफी है। उन्होंने कहा कि पार्टी का मेरे पर बहुत बड़ा ऋण है, और पार्टी कार्यकर्ताओं को यह विश्वास रखना चाहिये कि जब उपयुक्त समय आता है तब संगठन उचित सम्मान करता है।