राजस्थान में गेहूं घोटाले में फरार आरोपी निलंबित आईएएस अफसर निर्मला मीणा ने बुधवार को जोधपुर में एसीबी कार्यालय में सरेंडर कर दिया. 8 करोड़ के गेहूं घोटाले की आरोपी मीणा अग्रिम जमानत अर्जी 10 मई को सुप्रीम कोर्ट से भी खारिज कर दिया गया था. तभी से मीणा के पास एसीबी के समक्ष सरेंडर करने के अतिरिक्त कोई चारा नहीं बचा था.
निर्मला मीणा पर 33 हजार क्विंटल गेहूं के गबन के आरोप लगे हैं. इस मामले में मीणा ने एसीबी से बचने के तमाम प्रयास किए लेकिन आखिर वह अपने ही बयानों में ऐसी फंसी कि फंसती चली गई. यही नहीं खुद के साथ अपने पति पवन मित्तल को भी फंसा बैठी.