लंदन:भगोड़े शराब कारोबारी विजय माल्या ने ब्रिटेन के हाई कोर्ट में अपने प्रत्यर्पण के खिलाफ अपील करने को लेकर फिर आवेदन किया है. माल्या की यह भारत को उसके प्रत्यर्पण के खिलाफ एक और कोशिश होगी. शराब कारोबारी माल्या 9,000 करोड़ रुपये के धोखाधड़ी और मनी लांड्रिंग मामले में भारत में वांछित है. किंगफिशर एयरलाइन के पूर्व प्रवर्तक माल्या की अपील के लिए अनुमति याचिका की पिछली कोशिश इससे पहले शुक्रवार को असफल हो चुकी है.

आवेदन के नवीनीकरण के लिये 5 दिन का समय था
इसके बाद माल्या के पास दोबारा सुनवाई के लिये आवेदन के नवीनीकरण के लिये पांच दिन का समय था. न्यायालय के एक अधिकारी ने शुक्रवार को कहा, 'एक रीन्यूअल फॉर्म प्राप्त हुआ है और इसे आने वाले समय में सूचीबद्ध कर दिया जाएगा.' ब्रिटेन के गृह मंत्री साजिद जाविद ने माल्या के प्रत्यर्पण के न्यायालय के आदेश पर फरवरी में हस्ताक्षर कर दिये थे. अदालत की तरफ से माल्या के प्रत्यर्पण रोकने वाली अर्जी पहले ही खारिज की जा चुकी है.

इस सबके बीच खबर है कि माल्या को लगने लगा है कि उसका जेल जाना तय है. इसलिए, पिछले दिनों उसके वकीलों ने कोर्ट में कहा था कि मेरे मुवक्किल भारतीय बैंकों को संतुष्ट करने के लिए शानो शौकत की जिंदगी छोड़ना चाहते हैं. कोर्ट के आदेश के अनुसार हर सप्ताह माल्या 18,325.31 पाउंड खर्च करता है. पिछले सप्ताह ब्रिटेन की कोर्ट में सुनवाई के दौरान माल्या ने इस राशि को घटाकर 29,500 पाउंड मासिक करने की पेशकश की थी.

 

आपको बता दें विजय माल्या ट्विटर के जरिए लगातार अपनी बात सामने रखता है. पिछले दिनों उसने ट्वीट कर कहा था कि बैंकों के जितने मेरे ऊपर बकाये हैं, उससे अधिक की वसूली की जा चुकी है.