कराकस:यूरोपीय संघ के करीब 20 देशों और 11 लैटिन अमेरिकी देशों के एक समूह ने वेनेजुएला में विपक्ष के नेता जुआन गुइडो को अंतरिम राष्ट्रपति के रूप में मान्यता दे दी है। मौजूदा राष्ट्रपति निकोलस मादुरो पर इस्तीफे का दबाव बढ़ाते हुए और नये राष्ट्रपति चुनाव का रास्ता साफ करते हुए जर्मनी, फ्रांस, ब्रिटेन तथा स्पेन ने सार्वजनिक रूप से गुइडो का समर्थन किया है। 

दरअसल यह कदम वेनेजुएला में रविवार तक राष्ट्रपति चुनाव कराने की समय सीमा बिना किसी कार्रवाई के निकलने के बाद उठाया गया है। जुआन गुइडो ने पिछले महीने अमरीका और कई दक्षिण अमरीकी देशों के समर्थन से स्वयं को वेनेजुएला का अंतरिम राष्ट्रपति घोषित कर दिया था। सोमवार को ही यूरोपीय देशों- स्पेन, पुर्तगाल, जर्मनी, ब्रिटेन, डेनमार्क, हॉलैंड, फ्रांस, हंगरी, ऑस्ट्रिया, फिनलैंड, बेल्जियम, लक्समबर्ग, चेक रिपब्लिक, लातविया, लिथुआनिया, एस्टोनिया, पोलैंड, स्वीडन और क्रोएशिया ने स्वतंत्र, निष्पक्ष और लोकतांत्रिक राष्ट्रपति चुनावों के आह्वान के साथ  गुइडो को समर्थन देने के संयुक्त घोषणा पर हस्ताक्षर किए थे। 

वहीं 14 सदस्यों वाले लीमा समूह के 11 देशों ने विश्व समुदाय से मादुरो शासन को विदेश में वित्तीय व व्यापार लेनदेन, वेनेजुएला की अंतरार्ष्ट्रीय संपत्ति और तेल, सोना व अन्य में व्यापार करने से रोकने के लिए कठम उठाने का आग्रह किया है।