कुशीनगर:उत्तरप्रदेश व उत्तराखंड में जहरीली शराब से अब तक 112 लोगों की जान जा चुकी है। इस मामले में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के कड़े रुख के बाद यूपी पुलिस ने 215 से अधिक लोगों को गिरफ्तार किया है। वहीं, योगी सरकार ने मामले की जांच के लिए एडीजी रेलवे संजय सिंघल की अगुआई में एसआईटी गठित कर दी है। कुशीनगर के तमकुहीराज के सीओ और सहारनपुर में देवबंद के सीओ को सस्पेंड कर दिया गया है। 

जहरीली शराब कांड को लेकर योगी ने कहा- जांच के बाद होगी कठोर कार्रवाई

 पुलिस ने शराब कांड में अब तक 297 मामले दर्ज किए हैं। तमाम अफसरों के निलंबन के बाद रविवार को 46 पुलिसकर्मियों को लाइन हाजिर किया गया। जहरीली शराब पीने के कारण सहारनपुर 52, मेरठ में 18 और कुशीनगर में 10 लोगों की मौतें हो चुकी हैं। वहीं, उत्तराखंड के रुड़की और हरिद्वार में 32 लोगों की मौत हुई है। 

रविवार को शराब कांड पर यूपी के आबकारी मंत्री जय प्रताप सिंह ने कहा कि सहारनपुर और कुशीनगर में हुई घटनाओं के पीछे कारण अलग-अलग हैं। सहारनपुर में लोग एक कार्यक्रम में हिस्‍सा लेने के लिए उत्‍तराखंड गए थे, जहां उन्‍होंने जहरीली शराब का सेवन किया। जब वे लौटे तो मौत का आंकड़ा बढ़ गया। सिंह ने बताया कि कुशीनगर में शराब कांड के मुख्‍य आरोपी रजिंदर जायसवाल को अरेस्‍ट कर लिया गया है। कुशीनगर के दोषी अधिकारियों को सस्‍पेंड कर दिया गया है।