महंगी कार में एक शहर से दूसरे शहर में जाकर मोबाइल शोरूमों में चोरी की वारदात करने वाले दिल्ली गैंग के दो शातिर बदमाशों को जयपुर में आदर्श नगर थाना पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। इनके कब्जे से 25 एन्ड्रॉयड मोबाइल फोन, 2 पोर्टेबल स्पीकर, 10 वायरलैस हैड फोन, 11 हजार रुपए नकद और एक लक्जरी कार बरामद हुई है।

पूछताछ में बदमाशों ने राजस्थान, हरियाणा, उत्तर प्रदेश, दिल्ली सहित कई राज्यों में चोरी की 150 से ज्यादा वारदात करना बताया है। बदमाशों ने पिछले दिनों 18 जनवरी को दिल्ली से जयपुर आकर राजापार्क आदर्श नगर में जियो और वीवो मोबाइल स्टोर को निशाना बनाकर लाखों रुपए के मोबाइल फोन और अन्य उपकरण चुराए थे। जयपुर कमिश्नरेट में डीसीपी (पूर्व) अभिजीत सिंह ने बताया कि गिरफ्तार आरोपी हंसराज राजभर उर्फ राज (42) उत्तरप्रदेश में आजमगढ़ हिसारपुर का रहने वाला है। पिछले लंबे वक्त से दिल्ली में कृष्णा नगर ईस्ट में रहता है। दूसरा आरोपी आरिफ खान (42) दिल्ली में जामा मस्जिद स्थित मोहल्ला चूड़ीवाला में रहता है।

आरोपी हंसराज 8वीं कक्षा पास है। उसने 1994 में अपराध की दुनिया में कदम रखा था। शुरुआती दिनों में हंसराज ने सीवरेज के ढक्कन चोरी व लोहे की ग्रिल चुराता था। बड़े व नामी होटलों में ठहरने, महंगी शराब के शौक पूरे करने के लिए हंसराज चोरी करने लगा। चोरी का सामान बेचकर कमाए रुपयों से पॉश इलाकों में भूखंड खरीदने में निवेश करता है।

एक राज्य में वारदात कर कार से दूसरे राज्य में भाग निकलते है

आदर्श नगर थानाप्रभारी बृजभूषण अग्रवाल ने बताया कि हंसराज राजभर और उसकी गैंग दिल्ली व आसपास के सीमावर्ती राज्यों में मोबाइल स्टोर में नकबजनी की वारदात करते है। महंगे उपकरण चुराकर ये लोग कार से तुरंत दूसरे राज्य में भाग निकलते है। नकबजनी के बाद ये लोग शोरुम में लगे सीसीटीवी व डीवीआर तोड़ कर चुरा ले जाते है, ताकि वे पकड़े नहीं जा सके।

जयपुर में वारदात के बाद सूचना मिली कि दोनों बदमाश कार से भाग रहे है। तब जयपुर-दिल्ली हाइवे पर दौलतपुरा टोलनाके पर धरदबोचा। यह कार्रवाई सब इंस्पेक्टर धर्मेंद्र कुमार और जिला स्पेशल टीम के प्रभारी इंस्पेक्टर मनोहर लाल के नेतृत्व में टीम ने की। दोनों आरोपियों से पूछताछ की जा रही है।