नई दिल्‍ली. देश में कोरोना वायरस संक्रमण (Coronavirus) के मामलों में लगातार बढ़ोतरी दर्ज की जा रही है. इसके प्रसार को रोकने के उद्देश्‍य से सोमवार से देश में लॉकडाउन का तीसरा चरण लागू हो गया है. यह दो हफ्ते तक जारी रहेगा. सोमवार को स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय और गृह मंत्रालय ने देश में कोरोना वायरस संक्रमण के संबंध में प्रेस कॉन्‍फ्रेंस करके हालात की जानकारी साझा की. वहीं स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय ने बताया कि देश में अब तक कोरोना वायरस संक्रमण के कुल 42533 केस सामने आ चुके हैं. वहीं देश में पिछले 24 घंटे में 1074 लोग ठीक हुए. यह अब तक का 24 घंटे में सबसे अधिक ठीक होने का आंकड़ा है.

स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय के अनुसार अब तक देश में कुल 11706 मरीज ठीक हो चुके हैं. देश में कोरोना वायरस संक्रमण के एक्टिव केस की संख्‍या 29453 है. वहीं देश में कोरोना मरीजों के ठीक होने की दर बढ़कर 27.52 फीसदी हो गई है.

स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय ने बताया कि देश में कोरोना वायरस संक्रमित मरीजों के ठीक होने दर में इजाफा हो रहा है. मौजूदा समय में यह दर बढ़कर 25.52 फीसदी हो गई है. वहीं देश में कोविड 19 केस के दोगुने होने का समय भी 12 दिन हो गया है. लॉकडाउन से पहले यह समय 3.4 दिन था.

गृह मंत्रालय के अनुसार कोरोना वायरस के संक्रमण को देखते हुए देश में सभी जिलों को रेड, ग्रीन और ऑरेंज जोन में बांटा गया है. लॉकडाउन में ढील देने के पीछे का मकसद व्‍यावसायिक कार्यों को बढ़ाना, कामगारों को रोजगार उपलब्‍ध कराना और अर्थव्‍यवस्‍था को मजबूती देना है. गृह मंत्रालय ने लॉकडाउन पार्ट 3 के तहत रेड और ऑरेंज जोन में दी गई ढील और पाबंदियों के बारे में भी जानकारी दी. उनके अनुसार रेड जोन में आपातकालीन चिकित्‍सा सेवा उपलब्‍ध होंगी. कंटेनमेंट जोन में किसी भी तरह की गतिविधि पर रोक रहेगी.

गृह मंत्रालय ने लॉकडाउन पार्ट 3 के तहत रेड और ऑरेंज जोन में दी गई ढील और पाबंदियों पर भी जानकारी दी. उनके अनुसार रेड जोन में आपातकालीन चिकित्‍सा सेवा उपलब्‍ध होंगी. कंटेनमेंट जोन में किसी भी तरह की गतिविधि पर रोक रहेगी. रेड जोन में सिर्फ जरूरी सेवाओं से जुड़ी दुकानें ही खुली रहेंगी. ई-कामर्स कंपनियों को रेड जोन में सिर्फ जरूरी सेवाओं से जुड़े सामान की डिलीवरी की ही इजाजत है. ऑरेंज जोन में टैक्‍सी में एक चालक और दो यात्रियों को अनुमति दी गई है. यहां दोपहिया वाहन पर दो लोगों के बैठने की अनुमति है.