हमारी रसोई में मौजूद इंग्रीडिएंट्स गुणों का खजाना हैं।जिनका इस्‍तेमाल न केवल टेस्‍टी खाना बनाने में बल्कि स्किन में चमक लाने में भी किया जाता है। अगर आप कम दाम में चेहरे में निखार लाना चाहते हैं तो आपको बस अपनी किचन का रूख करना होगा. भारत में पीढ़ियों से आयुर्वेद और प्राचीन घरेलू उपचारों का पालन करने की परंपरा का सम्मान किया गया है।बेसन और मुल्तानी मिट्टी स्किन की देखभाल के लिए इस्‍तेमाल की जाती हैं वहीं कई अन्य चीजें भी हैं जो समान रूप से चेहरे पर अपना कमाल दिखा सकती हैं।


मसूर की दाल न केवल खाने में काफी टेस्‍टी होती है बल्कि ये आपकी स्किन के लिए भी काफी फायदेमंद होती है. इसमें मौजूद कई तरह के मिनरल, विटामिन, एंटीऑक्सीडेंट स्किन के लिए बिल्‍कुल सेफ होते हैं।इसके पावडर में अपनी स्किन टाइप के अनुसार नेचुरल इंग्रीडिएंट मिलाकर चेहरे पर निखार देखा जा सकता है।

दिल्ली की स्किन स्‍पेशलिस्‍ट डॉ. दीपाली भारद्वाज कहती हैं। मसूर की दाल ब्‍लीचिंग एजेंट की तरह काम करती है। इसके इस्‍तेमाल से आप अपनी स्किन में बदलाव देख सकते हैं।यह एक्‍सफोलिएटर की तरह काम करती है और स्‍कार्स, धब्बे और पिग्मेंटेशन को कम करने में मदद करती है।

दिल्ली की ब्‍यूटी एक्‍सपर्ट सुपर्णा त्रिखा कहती हैं। यह त्वचा का एक्स्फोलीएट, क्लीन और फ्रेश करने के लिए जाना जाता है। दाल को भिगोने के लिए इस्तेमाल किया जाने वाला पानी फेस पैक और मास्क में इस्तेमाल किया जा सकता है क्योंकि इसमें स्किन के लिए आवश्यक खनिज मौजूद होते है।

ऐसे करें इस्‍तेमाल
अगर आप चेहरे में निखार लाना चाहते हैं तो मसूर की दाल के पेस्‍ट में बेसन, मुल्‍तानी मिट्टी जैसे इंग्रीडिएंट्स मिलाकर इस्‍तेमाल करें। 

1. सुपर्णा त्रिखा कहती हैं मसूर की दाल में दूध और अंडे का सफेद भाग मिलाकर इसका पेस्‍ट बना लें. अब इसे चेहरे पर लगाएं और सूखने दें. यह पैक चेहरे में कसावट लाने में मदद करता है।

2. मसूर की दाल का इस्‍तेमाल एंटी-एजिंग पैक बनाने के लिए किया जा सकता है, जिसमें पाउडर के साथ सूखे मावों का पाउडर भी मिलाया जाता है।उदाहरण के लिए आप इसमें अखरोट का पाउडर या बेसन मिला सकते हैं।यह स्किन की टैन निकालने में फायदेमंद है।

3. मसूर की दाल के पावडर में दूध मिलाकर भी इस्‍तेमाल किया जा सकता है। इस पेस्‍ट को हल्‍के हाथों से चहेरे पर लगाएं. यह चहेरे की डेड स्किन, पॉल्‍यूशन, एक्‍स्‍ट्रा ऑयल निकालने में मदद करता है. इसमें मिलाया गया दूध चेहरे को मॉइश्‍चराइज करता है। एकसार स्किन के लिए इसे हफ्ते में 1 बार इस्‍तेमाल करें.


4. जिन लोगों की स्किन ड्राई होती है उन्‍हें मसूर की डाल के पावडर में शहद मिलाकर चेहरे पर लगाना चाहिए. कुछ देर इसे चेहरे पर लगे रहने के बाद हटा दें. डॉ. भारद्वाज कहती हैं, 'ऑयली स्किन वाले लोगों को मसूर की दाल के पावडर में सफेद सिरके की कुछ बुंदें मिलाकर चेहरे पर लगाना चाहिए. वहीं अगर आपकी स्किन नॉर्मल है तो मसूर की दाल के पावडर में दही और सफेद सिरका मिलाकर इसे चेहरे पर लगाएं. जब यह सूख जाएं तो चहेरा धो लें. सफेद सिरके की जगह आप नींबू का रस भी इस्‍तेमाल कर सकते हैं।
 

5. मसूर की दाल के पाउडर में पिसी उड़द की दाल, बादाम का तेल, ग्लिसरीन और गुलाब जल मिलाने से यह एंटी एक्‍ने फेस पैक की तरह काम करती है।

ध्‍यान रखें ये बातें
ब्‍लैकहेड्स और व्‍हाइटहेड्स को हटाने में मसूर की दाल बेहद फायदेमंद होती है।लेकिन इसे हफ्ते में एक से ज्‍यादा बार इस्‍तेमाल करने पर यह चेहरे के लिए आवश्‍यक ऑयल को रोक भी सकती है।

मसूर की दाल स्किन में कसावट लाती है पर इससे स्किन ड्राई भी होती है। इसलिए इसको अप्‍लाई करने के बाद चेहरे की मॉइस्चराइजिंग बेहद महत्वपूर्ण है।

जिन लोगों की स्किन सेंसिटिव और अधिक ड्राई होती है उन्‍हें इससे बचना चाहिए।

अगर आपके चेहरे पर एक्‍ने, पिंपल, रेशेज या एलर्जी हो गई है तो इसे चेहरे पर अप्‍लाई न करें।