जयपुर, भाजपा की तरफ से राज्यसभा के लिए नामांकन दाखिल करने के बाद डॉ किरोड़ी लाल मीणा ने एक बार फिर बयान दिया कि राज्यसभा में जाना उनकी कोई शर्त नहीं थी। विधानसभा में पत्रकारों से बातचीत में डॉ. मीणा ने कहा कि राजस्थान में तीसरे मोर्चे का गठन उन्होंने वर्ष 2013 में किया था और 134 सीटों पर चुनाव भी लड़ा था, इस दौरान सिर्फ 4 सीटें जीती थी।

उन्होंने कहा कि लेकिन राजस्थान में तीसरे मोर्चे की कोई गुंजाइश नहीं है। उन्होंने कहा कि विधायक नवीन पिलानिया से वह बात करेंगे, साथ ही पार्टी से रूठे हुए भाजपा विधायक घनश्याम तिवाड़ी को भी मनाने का प्रयास करेंगे। उन्होंने कहा कि वह पार्टी के रूठे हुए कार्यकर्ताओं को पार्टी से जोड़ने का भी कार्य करेंगे। उन्होंने कहा कि पार्टी जो भी कहेगी या जिम्मेदारी देगी, उसे वह समर्पण की भावना से निभायेंगे।