जयपुर, देशभर में गणेश चतुर्थी का त्योहार शुक्रवार को धूमधाम से मनाया जा रहा है। आज के दिन ही प्रथम पूज्य को मनाने के लिए लोग हर तरह का जतन करते हैं। लोग गणेश चतुर्थी के पावन पर्व पर्व पर सुबह से ही मंदिरों में भगवान गणेश की एक झलक पाने के लिए घंटों इंतजार करते रहे। वहीं जयपुर के प्रसिद्ध मंदिर मोती डूंगरी गणेश मंदिर में अल सुबह से ही भक्तों की लंबी-लंबी लाइनें लग गई। लोग भगवान गणेश के दर्शन करने के लिए घंटों लाइन में लगे रहे।

उधर जयपुर में सुबह सुबह अचानक मौसम ने करवट ली और झमाझम बारिश शुरू हो गई। कम से कम तीन से चार घंटे आई बारिश के बाद जहां एक ओर जयपुर की सडक़े नालों की तरह नजर आई वहीं दूसरी ओर गणेश भगवान के दर्शन करने के लिए आए भक्तों की भक्ति को भी कमजोर नहीं कर सकी। लोग बारिश में भी भी गणेश भगवान के दर्शन करने के लिए लाइनों में लगे रहे और अपनी बारी आने का इंतजार करते रहे। इस दौरान मानों पूरा जयपुर गणपति बप्पा मोरियां के जयकारों से गुंजयमान हो गया। हर तरफ सिर्फ भगवान गणेश के जयकारे लगाते हुए भक्त मंदिर तक पहुंच रहे थे।

भक्तों के लिए की खाने-पीने की व्यवस्था
मोती डूंगरी गणेश मंदिर में दर्शन करने आने वाले भक्तों के लिए जगह-जगह खाने-पीने के लिए व्यवस्था की गई। जेएलएन मार्ग, राजा पार्क, टोंक रोड, रामनिवास बाग सहित अन्य मार्गांे पर भक्तों के लिए खाने-पीने के लिए नि:शुल्क व्यवस्था की गई। इस दौरान कोई भक्तों को नाश्ता करा रहा था तो कोई उन्हे पानी पिला कर अपनी भक्ति का दिखाते नजर आ रहे थे।

भक्तों की लगी कई किलोमीटर तक लंबी कतारें
उधर गणेश चतुर्थी के पावन पर्व को लोगों ने हर्षोल्लास के साथ मनाया। लोग अल सुबह से ही मोती डूंगरी मंदिर में प्रथम पूज्य गणेश भगवान के दर्शन करने के लिए पहुंच गए। इस दौरान कई किलोमीटर तक भक्तों की लंबी-लंबी कतारे लगी रही। भक्त गणपति बप्पा के जयकारें लगाते हुए कतारों में अपनी बारी आने का इंतजार कर हरे थे।

सुरक्षा व्यवस्था को लेकर पुलिस रही मुस्तैद
गणेश चतुर्थी के पावन पर्व पर मोती डूंगरी सहित विभिन्न मंदिरों में सुरक्षा व्यवस्थाओं को लेकर पुलिस प्रशासन और स्थानिय प्रशासन पूरी तरह से मुस्तैद रहा। इस दौरान मोती डूंगरी गणेश मंदिर पर सुरक्षा के लिहाज से अतिरिक्त पुलिस जाब्ता लगाया गया। वहीं कैमरों से यहां निगरानी की गई।

कल निकलेगी शोभायात्रा

गणेश चतुर्थी के दूसरे दिन यानि शनिवार को गणेश मंदिर से भगवान गणेश की शोभायात्रा निकलेगी। जो विभिन्न मार्गों से होती हुई गण गणेश मंदिर ब्रह्मपुरी में जाकर समाप्त होगी। इसके लिए प्रशासन की ओर से पूरी तरह की तैयारी कर ली गई है। शोभा यात्रा में भगवान गणेश की विभिन्न झाकिया वाहनों में सवार होते हुए विभिन्न मार्गों से होती हुई गण गणेश मंदिर पहुंचेगी।