इंटरनेट डेस्क, वैसे तो पूरे भारत मे अचलेश्वर महादेव के नाम से कई मंदिर है पर आज हम बात कर रहे है राजस्थान के धौलपुर जिले में स्थित अचलेश्वर महादेव मंदिर के बारे मे। इस मंदिर की सबसे बड़ी खासियत है कि यहां स्थित शिवलिंग दिन मे तीन बार रंग बदलता है। सुबह शिवलिंग का रंग लाल रहता है, दोपहर को केसरिया रंग का हो जाता है, और जैसे-जैसे शाम होती है शिवलिंग का रंग सांवला हो जाता है।

ऐसा क्यों होता है इसका किसी के पास जवाब नहीं है। भगवान अचलेश्वर महादेव का यह मंदिर हजारों साल पुराना है। इस शिवलिंग कि एक और अनोखी बात यह है कि इस शिवलिंग के छोर का आज तक पता नहीं चला है। कहते है बहुत समय पहले भक्तों ने यह जानने के लिए कि यह शिवलिंग जमीं मे कितना गड़ा है, इसकी खुदाई की, पर काफी गहराई तक खोदने के बाद भी उन्हे इसके छोर का पता नहीं चला।

इस चमत्कारी शिवलिंग के विषय में मान्यता है कि जो भी कुंवारा लड़का या लड़की यहां आकर मन्नत मांगते हैं उनकी जल्द ही शादी हो जाती है। शिवजी की कृपा से लड़कियों को मनचाहा वर भी मिल जाता है।