जम्मू कश्मीर: आतंक किसी का सगा नहीं इस बात को अब खुद आतंकी ही साबित कर रहे हैं . जहाँ एक तरफ वो एक एक कर के देशभक्ति मुस्लिम जवानो को मार रहे हैं तो अब वही आतंकी सीधे सीधे मस्जिदों के इमामो को निशाना बनाना शुरू कर चुके हैं . ये वही कश्मीर है जहाँ सेना और CRPF आये दिन आतंकी हमलों का निशाना बनती रही है।

इस से पहले इस्लामिक आतंकी हल्मो में वहां के हिन्दू समुदाय अपना घर और बसा बसाया संसार छोड़ कर पलायन कर गए थे .. अब धीरे धीरे वहां के स्थानीय लोग भी आ रहे हैं निशाने पर जिसमे आतंकी हमले का शिकार बना है दक्षिण कश्मीर की एक प्रमुख मस्जिद का इमाम ,ज्ञात हो की जम्मू कश्मीर के दक्षिण कश्मीर में पड़ने वाले पुलवामा में आतंकियों ने स्थायीय हनफिया मस्जिद के इमाम पर प्राणघातक हमला कर दिया है। आतंकियो ने इमाम के ऊपर गोली चला दी, जिसके बाद उन्हें गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती कराया गया है। जानकारी के अनुसार इमाम को कई गोलियां लगी हैं।

घटना के बाद पुलिस मामले की जांच कर रही है। मीडिया सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार दुर्दांत आतंकियों ने 45 वर्षीय मौलवी मोहम्मद अशरफ पर अंधाधुंध फायरिंग की.. मौलवी अशरफ बिजबेहाड़ा के रहने वाले हैं और वह परिगाम की मस्जिद में बतौर इमाम कार्यरत हैं। बताया जा रहा है की मौलवी अशरफ के दोनों पैर इस गोलीबारी में मौलवी के दोनों पैर बुरी तरह से छलनी हो गए और उनकी हालत बहुत बुरी तरह से बिगड़ने लगी ..गोली लगने के बाद गंभीर हालत में इमाम को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। 

इमाम की हालत को देखते हुए उन्हें श्रीनगर के अस्पताल में भर्ती कराया गया है। घटना के बाद पुलवामा के एसएसपी मोहम्मद असलम चौधरी ने बताया कि मौलवी के पैर में गोली लगी है, हम मामले की तफ्तीश कर रहे हैं, जल्द ही हमलावरों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा।