मुंबई, भारतीय कारोबार के बेेहतरीन प्रदर्शन के दम पर देश की प्रमुख इस्पात कंपनी टाटा स्टील का समग्र शुद्ध मुनाफा चालू वित्त वर्ष की तीसरी तिमाही में लगभग पाँच गुना होकर 1,135.92 करोड़ रुपये पर पहुँच गया। पिछले वित्त वर्ष की समान तिमाही में यह 231.90 करोड़ रुपये रहा था। कंपनी के निदेशक मंडल की यहाँ हुई बैठक में तिमाही परिणामों को मंजूरी दी गयी।

गत 31 दिसंबर को समाप्त तिमाही में समग्र आधार पर उसका कुल राजस्व 29,154.75 करोड़ रुपये की तुलना में 15.50 फीसदी बढ़कर 33,672.48 करोड़ रुपये हो गया। इस दौरान उसका कुल व्यय भी 8.51 प्रतिशत की वृद्धि के साथ 30,552.03 करोड़ रुपये रहा। पिछले वित्त वर्ष की समान तिमाही में उसका कुल व्यय 28,154.90 करोड़ रुपये रहा था।

टाटा स्टील इंडिया से होने वाला कर पूर्व लाभ 3,392.54 करोड़ रुपये से 36.98 प्रतिशत बढ़कर 4,647.27 करोड़ रुपये पर पहुँच गया। टाटा स्टील यूरोप से होने वाले परिचालन लाभ में कमी आयी है और यह एक साल पहले के 707.11 करोड़ रुपये की तुलना में 632.19 करोड़ रुपये रह गया। कारोबार से संबंधित अन्य परिचालन से जहाँ 31 दिसंबर 2016 को समाप्त तिमाही में उसे 466.63 करोड़ का नुकसान हुआ था, वहीं पिछली तिमाही में इस मद में उसे 360.13 करोड़ रुपये का परिचालन लाभ हुआ है।