जयपुर, जेडीए की नींदड़ आवासीय स्कीम के लिए 1350 बीघा जमीन अवाप्त करने के विवाद में मंगलवार को किसान जेडीए अफसरों के बीच हुई वार्ता फेल हो गई। किसान काम करने से पहले मौका सर्वे करने की मांग करते रहे। वहीं जेडीए के सचिव एच. गुइटे अन्य अधिकारी सर्वे के साथ ही मंदिर माफी सरेंडर की जा चुकी जमीन पर काम करने पर अड़े रहे। वार्ता विफल हो जाने पर किसानों ने अवाप्ति निरस्त होने तक जमीन समाधि आंदोलन तेज करने का एलान किया है।

मंगलवार को वार्ता में फिर फील्ड सर्वे के एक साथ शुरू होने पर मतभेद हो गए। किसानों की दलील थी कि जेडीए एक बार जमीन पर काम शुरू कर देगा तो सर्वे का कोई फायदा नहीं होगा। जेडीए सचिव कार्यवाहक कमिश्नर एच. गुइटे का कहना है कि ये संभव नहीं है। काम आगे बढ़ाया जाएगा। अब जमीन दे चुके किसानों से बात कर आगे की कार्रवाई की जाएगी।