इस्लामाबाद:तालिबान के 'गॉडफादर' के नाम से विख्यात मौलाना समी-उल हक की उनके घर में हत्या कर दी गई। हमलावरों ने चाकू से हमला किया और कई वार किए। समी-उल हक पाकिस्तान में पूर्व सांसद रह चुके थे इसके अलावा फिलहाल उनकी पहचान एक धार्मिक नेता के तौर पर थी। 

गौरतलब है कि समी-उल हक कट्टरपंथी राजनीतिक पार्टी जमात उलेमा-ए-इस्लाम-समी (जेयूआई-एस) और अकोरा खट्टक शहर में इस्लामी मदरसे दारुल उलूम हक्कानिया का प्रमुख भी था। पाक मीडिया के अनुसार हमलावर शुक्रवार को रावलपिंडी में उनके घर में घुसे और चाकू घोंपकर उनकी हत्या कर दी। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने 82 वर्षीय हक की हत्या में जांच के आदेश दे दिए हैं। बता दें कि पहले खबर आ रही थी कि उनकी हत्या गोली मारकर हुई है लेकिन उनके बेटे ने पुष्टि की है कि हत्या चाकू घोंपकर हुई है।