नई दिल्ली, लोगों को कई अजीब तरह की बीमारियां होती हैं, इन्हीं में से एक है नाभि खिसकना जिसे धरण पड़ना भी कहते हैं। इसमें पेट में और कमर में काफी तेज दर्द होता है। ज्यादा भारी चीज उठाने या अधिक भागदौड़ करने की वजह से ही यह समस्या हो जाती है लेकिन इस बीमारी के बारे में पता लगाना थोड़ा मुश्किल हो जाता है क्योंकि पेट में दर्द किसी भी वजह से हो सकता है। ऐसे में जब पेट के लिए काफी दवाएं खाने के बाद भी कोई फर्क न पड़े तो समझ लें कि नाभि खिसक चुकी है। इसके अलावा और भी एक लक्षण है जिससे इस समस्या के बारे में पता लगाया जा सकता है।

इस तरह करें पहचान
इस समस्या की पहचान करने के लिए रोगी को लेटकर नाभि के आसपास वाले स्थान पर उंगलियों से दबाव डालना चाहिए। अगर नाभि से बिल्कुल नीचे वाली जगह पर धड़कन महसूस हो तो समझें कि यह अपनी जगह पर ही है लेकिन अगर धड़कन महसूस न हो तो समझ लें कि नाभि अपनी जगह पर नहीं है। वैसे तो इसका कोई भी डॉक्टरी इलाज नहीं है लेकिन एक घरेलू नुस्खा अपनाकर इस समस्या से राहत पाई जा सकती है।

उपाय
नाभि खिसकने पर पेट में असहनीय दर्द होता है। ऐसे में सौंफ का इस्तेमाल करके नाभि को अपनी जगह पर लाया जा सकता है। इसके लिए 50 ग्राम गुड़ में 10 ग्राम सौंफ मिलाएं। रोजाना सुबह खाली पेट इसे अच्छी तरह चबा-चबा कर खाएं। ऐसा लगातार 3 दिन तक करें जिससे नाभि अपनी जगह पर आ जाएगी और पेट दर्द से भी राहत मिलेगी।

सावधानियां
नाभि खिसकने पर किसी भी तरह की एक्सरसाइज न करें और कोई भी भारी काम न करें।