हेल्थ, भारत की रसोई में ढेरों तरह के हर्ब इस्तेमाल किए जाते हैं। इनमें से एक है मीठी नीम। मीठी नीम को असल में कड़ी पत्ता कहा जाता है। इसके पत्ते भी नीम की तरह छोटे-छोटे होते हैं और फायदे भी नीम की तरह ही होते हैं। रसोई में इस्तेमाल किए जाने वाले कढ़ी पत्तों को नानी मां के नुस्खों में भी खास जगह दी गई है। सेहत से जुड़ी बहुत सी परेशानियों में यह पत्ते बहुत फायदेमंद होते हैं। इनमें विटमिन बी1, बी3, बी9, सी, आयरन, कैल्शियम और फॉस्फोरस भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं।

1. कफ
कफ को बाहर निकालने के लिए कड़ी पत्ते बहुत लाभकारी है। 1 चम्मच शहद और 1 चम्मच कढ़ी पत्ते का रस मिला लें। इस रस का दिन में 3-4 बार सेवन करें। कफ से छुटकारा मिल जाएगा।
2. उल्टी
कुछ लोगों का कमजोरी के कारण मन खराब होता रहता है। अक्सर उल्टी आने का मन करता है। इसके लिए कढ़ी पत्ते में कुछ बूंद नींबू का रस और चीनी मिला कर सेवन करें। इससे राहत मिलेगी।
3. पाचन मजबूत
पेट से जुड़ी बहुत सी परेशानियों के लिए कढ़ी पत्ता बेहद कारगर है। इसे रोजाना सब्जी में इस्तेमाल करने से पाचन क्रिया मजबूत रहती है। इसके पत्तों को चबाने से मोटापा भी कम होने लगता है।
4. ग्लोइंग स्किन
चेहरे के पिंपल और दाग धब्बे दूर करने के लिए कढ़ी पत्तों को पीसकर इसमें नींबू का रस मिलाकर लगाएं। 15 मिनट बाद चेहरा धो लें। इसका कुछ दिन इस्तेमाल करने से पिंपल की परेशानी दूर हो जाएगी और चेहरे पर चमक भी आ जाएगी।
5. मजबूत बाल
कढी पत्ते का पेस्ट और दही को मिलाकर 20-25 मिनट के लिए बालों पर लगाएं। इसके बाद इन्हें शैंपू से धो लें। हफ्ते में 2-3 बार ऐसा करने से बाल काले और घने होने शुरू हो जाते हैं।
6. आंखों का रोशनी तेज
रोजाना 2 ग्राम मीठी नीम यानि कढी पत्तों का चूर्ण पानी के साथ खाने से आंखोें की रोशनी तेज होने लगती है।
7. एक्जिमा
शरीर पर खुजली होने या घाव होने पर कढ़ी पत्ते का इस्तेमाल कर सकते हैं। इसे पानी में डाल कर नहाएं या फिर इसका रस लगाएं।
8. दस्त
दस्त होने पर 3-4 कढ़ी पत्तों को 1 गिलास पानी में उबाल कर इसे गुनगुना करके पीएं।