सूरत. सूरत (Surat) में एक पारिवारिक झगड़े से तंग आकर एक शख्‍य ने शराब के साथ जगह की कुछ गोलियां खा लीं. इसके बाद उसने एक सुसाइड नोट (Suicide Note) लिखा और उसे अपने पैर से बांध लिया. शख्‍स ने इस घटना की जानकारी तुरंत अपने एक रिश्‍तेदार को दी और कहा कि उसका टिकट आ गया है और वह अब जा रहा है. उसने कहा कि मेरे मरने के बाद मेरी मौत के लिए जिम्‍मेदार लोगों को सजा जरूर दिलाना. आत्‍महत्‍या के इस मामले में पुलिस ने जांच शुरू कर दी है.

जानकारी के मुताबिक श्रवणलाल मफतभाई चौहान सूरत के जियाव रोड स्थित वासुदेव सोसाइटी में अपने परिवार के साथ रहते हैं. श्रवणलाल पेशे से ड्राइवर हैं. श्रवण का पिछले काफी समय से अपनी पत्‍नी के साथ झगड़ा चल रहा था. श्रवणलाल रोज रोज के इस झगड़े से तंग आ चुके थे. कुछ दिन पहले जब श्रवणलाल की पत्‍नी बच्‍चों के साथ किसी शादी समारोह में गई थी तभी श्रवणलाल ने शराब के साथ जहर की गोली खा ली. आत्‍महत्‍या करने के बारे में उसने अपने एक रिश्‍ते को फोन किया और कहा कि मेरा टिकट आ गया है, वीजा आ गया. फोन पर श्रवणलाल ने बताया कि उसने अपने दाहिने पैर में सुसाइड नोट बांध लिया है और आत्‍महत्‍या से जुड़ी सारी जानकारी रख ली है.

श्रवणलाल ने अपने रिश्‍तेदार से कहा कि मेरी मौत के बाद सुसाइड नोट पुलिस आयुक्‍त को दे देना. मेरी मौत के लिए जिम्‍मेदार मेरी पत्नी और बहनोई रमेश को कड़ी सजा दी जाए. मेरी आत्मा को शांति मिले. सुसाइड नोट में उसने अपने अंगों को दान करने की बात कही है.

श्रवणलाल के फोन के बाद रिश्‍तेदार आनन फानन में उसके घर पहुंचे और तंरत उसे अस्‍पताल में भर्ती कराया, जहां प्राथमिक उपचार के बाद डॉक्‍टरों ने श्रवणलाल को मृत घोषित कर दिया. आत्‍महत्‍या के इस मामले में पुलिस ने जांच शुरू कर दी है.