बागपत:उत्‍तर प्रदेश की बागपत जिला जेल में सोमवार को हुई पूर्वाचल के अंडरवर्ल्ड माफिया मुन्ना बजरंगी की हत्या का जुर्म पश्चिमी यूपी के गैंगस्टर सुनील राठी ने कुबूल कर लिया है. पुलिस पूछताछ में उसने जुर्म कुबूल करते हुए पुलिस को जानकारी दी है कि उसी ने ही हत्‍याकांड को अंजाम दिया है. पुलिस ने राठी से घंटों पूछताछ की है. वहीं सोमवार की देर शाम पुलिस ने उससे पूछताछ के बाद जेल हत्या में इस्तेमाल हुई पिस्टल भी गटर से बरामद कर ली है. सुनील राठी भी बागपत जेल में ही बंद है.

पुलिस ने सुनील राठी के खिलाफ मुन्‍ना बजरंगी की हत्‍या करने का केस भी दर्ज कर लिया है. वहीं मुन्‍ना बजरंगी की पत्‍नी की ओर से दी गई तहरीर के आधार पर भी जांच की जा रही है. सोमवार को बागपत की जिला जेल में बंद सुनील राठी ने मुन्‍ना बजरंगी के सिर पर दस गोलियां मारकर उसकी हत्‍या कर दी थी. इस हत्‍याकांड के बाद जेल अधिकारियों से लेकर शासन-प्रशासन में हड़कंप मच गया था.

पुलिस पूछताछ में सुनील राठी ने बताया कि उसी ने ही मुन्‍ना बजरंगी की हत्‍या की है. उसने यह भी कुबूला कि उसने हत्‍या के बाद हत्‍या में इस्‍तेमाल पिस्‍टल को गटर में फेंक दिया था. जिसके बाद पुलिस ने 7-8 घंटे की तलाशी के बाद गटर से पिस्‍टल और कारतूस बरामद कर लिए हैं. सुनील राठी के खिलाफ खेकड़ा थाने में एफआईआर दर्ज कराई गई है. वहीं मुन्‍ना बजरंगी की पत्‍नी सीमा सिंह की ओर से कुछ लोगों के खिलाफ दी गई नामजद तहरीर पर भी गंभीरता से जांच कर रही है. पुलिस के अनुसार एकल कक्ष के पास बैरिक संख्‍या 10 में सुनील राठी को रखा गया है. वहीं 9 नंबर बैरिक में मुन्‍ना बजरंगी को रखा गया था. उसकी के बाहर वारदात को अंजाम दिया गया था. मामले में जेलर और डिप्टी जेलर समेत पांच जेलकर्मियों को भी सस्‍पेंड कर दिया गया था.