बेंगलुरू:आध्यात्मिक गुरू और आर्ट ऑफ लिविंग के संस्थापक श्री श्री रवि शंकर ने हालिया प्राकृतिक आपदाओं के मद्देनजर आज अमरनाथ यात्रियों से अपनी यात्रा 2019 के लिए टालने का अनुरोध किया. अमरनाथ श्राइन बोर्ड का सदस्य होने के नाते उन्होंने यह अनुरोध किया है।

श्री श्री रवि शंकर ने कहा कि भारी बारिश और भूस्खलन ने अमरनाथ गुफा जाने वाले दोनों मार्गों को अवरूद्ध कर दिया है.उन्होंने कहा कि अमरनाथ श्राइन बोर्ड के अध्यक्ष एवं जम्मू कश्मीर के राज्यपाल एन एन वोहरा थल सेना और बीएसएफ की सर्वश्रेष्ठ कोशिशों के बावजूद निकट भविष्य में यात्रा के लिए मार्गों के उपयुक्त होने की संभावना नहीं है।

गौरतलब है कि मंगलवार शाम तक कुल 94,412 तीर्थयात्रियों ने अमरनाथ गुफा में हिम शिवलिंग के दर्शन किए हैं.यह यात्रा 27 जून को शुरू हुई थी।

नॉदर्न आर्मी कमांडर ने अमरनाथ यात्रा सुरक्षा व्यवस्था की समीक्षा की
वहीं सेना की उत्तरी कमान के कमांडर लेफ्टिनेंट रणबीर सिंह ने अमरनाथ यात्रा के लिए तैनात किए गए सुरक्षा बलों की यूनिटों का दौरा करके सुरक्षा व्यवस्था की समीक्षा की . सेना के एक अधिकारी ने बताया घाटी में अपना दौरा जारी रखते हुए उत्तरी कमान कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल रणबीर सिंह ने चिनार कोर कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल ए के भट्ट के साथ अमरनाथ यात्रा के लिए तैनात हुए सेना फॉर्मेशनों और यूनिटों का दौरा किया और सुरक्षा और प्रशासनिक व्यवस्था की जानकारी ली।

सेना कमांडर ने सुरक्षा से संबंधित उभर रही चुनौतियों से निपटने की तैयारी की जरूरत पर जोर दिया.इसके बाद सिंह जम्मू - कश्मीर के राज्यपाल एन एन वोहरा से राज भवन में यहां मिले और इस दौरे से जुड़़े अनुभव साझा किए।