श्रीगंगानगर:राजस्थान के श्रीगंगानगर जिले में एक शख्‍स द्वारा इटली से लौटे पांच लोगों को अपने घर में रखने का मामला सामने आया है. आरोप है कि उसने जिला प्रशासन (District Administration) को इसकी सूचना नहीं दी. ऐसा करना मकान मालिक को बहुत महंगा पड़ा है. श्रीगंगानगर जिला कलेक्टर शिवप्रसाद मदन नकाते के निर्देश पर जिला चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग ने मकान मालिक सुरजीत पाल बंसल के खिलाफ पुलिस थाना सदर में मुकदमा दर्ज कराया है. गौरतलब है कि इटली में कोरोना वायरस का प्रकोप सबसे विकराल रूप धारण कर चुका है.

जिला चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग ने पदमपुर रोड पर रहने वाले सुरजीत बंसल के खिलाफ कोरोना इमरजेंसी और धारा 144 घोषित होने के बावजूद विदेश से लौटे लोगों को घर में छुपाने का मामला दर्ज करवाया है. जिला चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. गिरधारी लाल मेहरड़ा ने बताया कि मकान मालिक सुरजीत पाल सिंह के खिलाफ मानव जीवन को संकट में डालने तथा सरकारी अधिकारियों के आदेश की अवहेलना करने के आरोप में विभिन्न धाराओं में मामला दर्ज किया गया है. सदर थाना पुलिस मामले की जांच कर रही है.

राजस्थान में 31 मार्च तक लॉक डाउन
इससे पहले कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए राजस्थान सरकार ने बड़ा फैसला लिया है. आवश्यक सेवाओं को छोड़कर आगामी 31 मार्च तक पूरा राजस्थान लॉक डाउन (Lock down) रहेगा. इसके तहत सरकारी दफ्तर, दुकानें और प्रतिष्ठान सभी बंद रहेंगे. केवल अस्पताल और आवश्यक सेवाएं  ही चालू रहेंगी. राजस्थान की सीमाएं सील की जाएंगी. शनिवार रात को सीएम अशोक गहलोत की अध्यक्षता में हुई उच्च स्तरीय बैठक में यह फैसला लिया गया है. शनिवार रात 9 बजे इसकी आधिकारिक घोषणा कर दी गई. कोराना वायरस को लेकर लॉक डाउन होने वाला देश का पहला राज्य है.

पॉजिटिव केस मिलने का सिलसिला जारी है
राजस्थान में कोरोना वायरस के पॉजिटिव केस मिलने का सिलसिला जारी है. शनिवार को ही प्रदेश में आधा दर्जन नए पॉजिटिव केस सामने आ चुके हैं. इन केस समेत राजस्थान में पॉजिटिव पीड़ितों की संख्या 23 हो चुकी है. शनिवार को सामने आए पॉजिटिव केस में 5 भीलवाड़ा में और 1 जयपुर से है. राजस्थान में पॉजिटिव पाए गए 3 मरीजों को ठीक किया जा चुका है. प्रदेश में अब तक 658 सैंपल जांच के लिए आये हैं. इनमें से 593 सैंपल की जांच रिपोर्ट नेगेटिव है. जबकि 42 सैंपल अभी अंडर प्रोसेस हैं.