मुंबई:नाना पाटेकर स्टारर फिल्म 'अब तक छप्पन' के स्क्रीन प्ले राइटर और अस्सिटेंट डायरेक्टर रविशंकर आलोक ने एक बिल्डिंग के छत से छलांग लगा कर अपनी जान दे दी. पीटीआई के रिपोर्ट के मुताबिक यह घटना बुधवार की दोपहर 2 बजे की है. रविशंकर आलोक ने जिस बिल्डिंग से कूद कर खुदकुशी की है वह मुंबई के सात बंगला रोड अंधेरी में स्थित है।

पीटीआई ने आगे इस रिपोर्ट में बताया है कि बिल्डिंग के गार्ड को किसी चीज की गिरने की जोर से आवाज आई जिसे वह देखने पहुंचा तो आलोक खून से लथपथ पड़े हुए थे. इसके बाद तुरंत एम्बुलेंस को बुलाया गया तब तक घटनास्थल पर पुलिस नहीं पहुंची थी. हालांकि उस समय अलोक के भाई भी वहां मौजूद नहीं थे जो उनके साथ रहते हैं. पुलिस को अब तक कोई सुसाइड नोट नहीं मिला है. फिलहाल वर्सोवा पुलिस मामले की जांच कर रही हैं।

इस मामले में सोसाइटी के वॉचमैन ने बताया कि बिल्डिंग के छत पर खुलने वाली गेट आमतौर पर बंद रहती है. यह पता नहीं कि रविशंकर बिल्डिंग के छत पर कैसे पहुंचे? वॉचमैन ने आगे यह भी बताया कि अलोक के मम्मी-पापा कुछ दिन से उनके साथ रह रहे थे.हाल ही में वे लोग यहां से अपने होम टाउन पाटन गए हैं।

मुंबई (जोन 9) के डिप्टी पुलिस कमिश्नर परमजीत सिंह दहिया ने कहा कि इस मामले में आकस्मिक मौत की रिपोर्ट दायर की गई है. एक अन्य पुलिस अधिकारी के मुताबिक, रविशंकर एक साल से अवसाद से जूझ रहे थे और इसके लिए भी उनका इलाज भी चल रहा था.मीडिया में आ रही अन्य खबरों के मुताबिक, 32 वर्षीय रविशंकर को पिछले एक साल से कोई काम नहीं मिल रहा था. मकान किराया और अन्य खर्चों के लिए उनके पास पर्याप्त पैसा नहीं था, जिसके कारण वह काफी डिप्रेशन में थे।