नई दिल्ली:देश के लगभग हर हिस्से में मानसून पहुंच गया है. जम्मू-कश्मीर से लेकर उत्तर प्रदेश, बिहार, महाराष्ट्र, गुजरात, पंजाब, हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड और पूर्वोत्तर राज्यों में झमाझम बारिश हो रही है. दिल्ली एनसीआर में भी हल्की बारिश से मौसम सुहाना हो गया है और लोगों को भीषण गर्मी से राहत मिली है. देश के कई राज्यों में भारी बारिश से नदियां खतरे के निशान से ऊपर बह रही हैं और कई जगह बाढ़ जैसे हालात पैदा हो गए हैं.

मौसम विभाग ने अगले 3-4 दिनों में जम्मू-कश्मीर के राजौरी और पुंछ, उत्तराखंड के पिथौरागढ़, नैनीताल और पौड़ी में भारी बारिश की आशंका जताई है. वहीं, देश की आर्थिक राजधानी मुंबई और गुजरात के नवसारी में पिछले तीन-चार दिन से रुक-रुककर हो रही बारिश के कारण निचले इलाकों में पानी भर गया है. भारी बारिश से मुंबई-गोवा हाईवे पर म्हाण के पास भूस्खलन से यातायात प्रभावित हुआ है. मौसम विभाग ने निचले इलाकों में रहने वाले लोगों को सतर्क रहने के लिए कहा है.

पंजाब, हिमाचल, उत्तराखंड में भारी बारिश
पिछले 24 घंटे में चंडीगढ़, पंजाब और हिमाचल में जोरदार बारिश हुई. चंडीगढ़ में 68 मिलीमीटर बारिश रिकॉर्ड की गई जबकि अमृतसर में 77 मिलीमीटर बारिश हुई. कई घंटे लगातार बरसात की वजह से बुधवार को गोल्डन टेम्पल के अंदर करीब आधा फीट पानी भर गया. वहीं शिमला में मंगलवार को बारिश ने 68 साल का रिकॉर्ड तोड़ दिया. पिछले 24 घंटों के दौरान 118.6 मिलीमीटर यानी करीब 4.66 इंच बारिश दर्ज की गई. वहीं, भारतीय मौसम विभाग की मानें तो उत्तराखंड के पिथौरागढ़, नौनीताल और पौड़ी में अगले 4-5 दिन में भारी बारिश का अनुमान है. मौसम विभाग ने प्रशासन को अलर्ट रहने को कहा है.

असम में अब तक 32 की मौत
असम के पांच जिलों धेमाजी, लखीमपुर, बरपेटा, डिब्रूगढ़, करीमगंज में बाढ़ का कहर जारी है. ब्रह्मपुत्र नदी में लगातार बढ़ रहे पानी के स्तर ने सरकार की चिंता और बढ़ा दी है. यहां कई जिलों में बाढ़ जैसे हालात पैदा हो गए हैं. 56 गांव बाढ़ की चपेट में हैं. भारी बारिश से 40-50 हजार लोग प्रभावित हुए हैं. अब तक 32 लोगों की जान भी चली गई है. यहां तेजी से राहत और बचाव कार्य किया जा रहा है. बाढ़ प्रभावित इलाकों से लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया जा रहा है.

बिहार में बाढ़ जैसे हालात
बिहार के पूर्णिया के बायसी प्रखडं में महानंदा और कनकई नदी अपने उफान पर हैं. सीतामढ़ी और शिवहर जिले मे संभावित बाढ़ को लेकर लोगों मे दहशत का माहौल है. कटिहार में महानंदा नदी खतरे के निशान से ऊपर बह रही है. इसे देखते हुए प्रशासन बाढ़ से निपटने की तैयारी में जुट गया है.

महाराष्ट्र, गुजरात में लगातार बारिश
गुजरात के नवसारी में बारिश से सड़कों पर पानी भर गया है. यहां पिछले 48 घंटे से लगातार बारिश हो रही है. मौसम विभाग की मानें तो समुद्र में उठे साइक्लोनिक दबाव के कारण अगले 48 घंटे दक्षिणी गुजरात में भारी बारिश की आशंका है. यहां हवा की रफ्तार भी बढ़ सकती है. 35 से 45 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चलेंगी.

वहीं, भारी बारिश के चलते मुंबई-गोवा हाईवे पर म्हाड़ के करीब कामबुरली में भूस्खलन से गाड़ियों की आवाजाही रोक दी गई है.