नई दिल्ली:कांग्रेस ने अपने नेता शशि थरूर के ‘हिंदू पाकिस्तान’ वाले बयान को खारिज कर दिया और कहा कि भारत का लोकतंत्र और इसके मूल्य इतने मजबूत हैं कि भारत कभी पाकिस्तान बनने की स्थिति में नहीं जा सकता। पार्टी ने अपने नेताओं को यह नसीहत भी दी कि बीजेपी की घृणा का जवाब देते समय वे पूरी सावधानी बरतें। उधर, थरूर के इस बयान पर बीजेपी ने कांग्रेस पर हमला बोलते हुए राहुल गांधी से माफी मांगने की मांग की है।

कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने ट्वीट कर आरोप लगाया, ‘मोदी सरकार ने पिछले चार वर्षों में विभाजन, कट्टरता, घृणा, असहिष्णुता और ध्रुवीकरण का माहौल पैदा किया है।’ उन्होंने कहा कि दूसरी तरफ, कांग्रेस बहुलवाद, विविधता, विभिन्न धर्मो एवं समुदायों के बीच भाईचारा और सद्भाव के सभ्यतागत मूल्यों का प्रतिनिधित्व करती है।

सुरजेवाला ने कहा, ‘भारत के मूल्य और मूल सिद्धांत हमारी सभ्यतागत भूमिका की स्पष्ट गारंटी देते हैं। कांग्रेस के सभी नेताओं को बीजेपी की घृणा को खरिज करने के लिए शब्द एवं वाक्य बोलते समय इस बात का अहसास होना चाहिए कि यह ऐतिहासिक जिम्मेदारी (मूल्यों कर रक्षा करने की) हमारे कंधों पर है।’

इससे पहले कांग्रेस नेता जयवीर शेरगिल ने कहा कि भारत का लोकतंत्र इतना मजबूत है कि सरकारें आती-जाती रहें, लेकिन यह देश कभी पाकिस्तान नहीं बन सकता। भारत एक बहुभाषी और बहुधर्मी देश है। उन्होंने कहा, ‘मैं कांग्रेस के हर नेता और कार्यकर्ता से आग्रह करूंगा कि वे इस बात का ध्यान रखें कि किस तरह के बयान देने हैं।’

शेरगिल ने कहा कि चाहे बीजेपी अपने नेताओं के विवादित बयानों पर चुप्पी साध ले, चाहे बीजेपी आईएसआई को भारत बुलाए, चाहे बीजेपी जम्मू-कश्मीर के चुनाव के लिए पाकिस्तान का शुक्रिया अदा करे, चाहे बीजेपी के मंत्री अपराधियों को हार पहनाकर इस देश के संविधान को हरा दें, लेकिन हमें बोलने में सावधानी बरतनी चाहिए।

कई नेताओं का समर्थन
हालांकि कुछ कांग्रेसियों ने थरूर के बयान का समर्थन किया है। कांग्रेस प्रवक्ता प्रियंका चतुर्वेदी ने कहा कि थरूर ने कुछ भी विवादित नहीं बोला है। यह उनका निजी दृष्टिकोण हैं। एनसीपी नेता शरद यादव ने भी थरूर के बयान का समर्थन किया है। उन्होंने कहा, 'जैसा 4 साल से काम हो रहा है कोई भी सोचेगा कि हिंदू राष्ट्र बनाने के लिए चल रहे हैं। बीजेपी की 2019 में विदाई हो जाएगी। बीजेपी ने 4 साल केवल धार्मिक और जातिगत उन्माद ही फैलाया है। इनके मंत्री लिन्चिंग करने वालों का स्वागत करते हैं।

बता दें कि शशि थरूर ने तिरुवनंतपुरम में कहा कि भारतीय जनता पार्टी अगर साल 2019 में जीतती है, तो वह नया संविधान लिखेगी, जिससे यह देश पाकिस्तान बनने की राह पर अग्रसर होगा जहां अल्पसंख्यकों के अधिकारों का कोई सम्मान नहीं किया जाता है।

हालांकि शशि थरूर ने कहा कि उन्हें नहीं लगता कि उन्होंने जो कहा है उस पर माफी मांगी जाए। उन्होंने कहा कि वह अबने बयान पर अभी भी कायम है। उन्होंने कुछ भी गलत नहीं कहा है, बस उसका मतलब गलत निकाला जा रहा है।

हमलावर हुई बीजेपी
उधर, बीजेपी ने शशि थरूर के बयान के लिए कांग्रेस पर हमला बोला है। बीजेपी ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से माफी मांगने को कहा है। बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा ने कहा कि राहुल गांधी के कहने के बाद ही पार्टी के नेता हिंदुओं का अपमान कर रहे हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि राहुल गांधी हिंदुओं से नफरत करते हैं और वह भी इस तरह के बयान दे चुके हैं।