रियाद, सऊदी अरब ने इस्लामिक स्टेट समूह की रक्षा मंत्रालय के प्रतिष्ठानों पर फिदायी हमला करने की साजिश को नाकाम करने और एक कथित जासूसी गिरोह का भंडाफोड़ करने का दावा किया है। इन दोनों घटनाओं के बारे में मंगलवार सुबह बताया गया। इससे देश के सामने आसन्न सुरक्षा चुनौतियों का पता चलता है। सऊदी अरब यमन में जंग लड़ रहा है और कतर के साथ राजयनिक विवाद में उलझा हुआ है।

सरकारी सऊदी प्रेस एजेंसी ने कहा कि रक्षा मंत्रालय के प्रतिष्ठानों पर बम विस्फोट करने की साजिश रचने के शक में यमन के दो नागरिकों को रियाद में गिरफ्तार किया गया है। बयान में यह भी कहा गया है कि सऊदी अरब के दो नागरिकों को भी गिरफ्तार किया गया और आत्मघाती बेल्ट तथा अन्य हथियार जब्त किए गए हैं। जासूसी गिरोह को लेकर बयान अस्पष्ट है। इसमें कहा गया है कि यह गिरोह सऊदी अरब के कुछ लोगों और कुछ विदेशी लोगों ने मिलकर बनाया था जो देश की एकता के लिए खतरा उत्पन्न करना चाहते थे।