वॉशिंगटन : तुर्की के सऊदी अरब कॉन्सुलेट में पत्रकार जमाल खाशोगी की हत्या का मामला अब तूल पकड़ता जा रहा है. खाशोगी वॉशिंगटन पोस्ट के पत्रकार थे, इस समय वह अमेरिका में निर्वासित जीवन व्यतीत कर रहे थे. पिछले दिनों खबर आई थी कि वह तुर्की में सऊदी अरब कॉन्सुलेट में जाकर लापता हो गए. फिर खबर आई कि कांसुलेट के अंदर ही उनकी हत्या कर दी गई. अब जमाल के एक दोस्त ने दावा किया है कि कॉन्सुलेट के अंदर उनकी हत्या के बाद जमाल के शव के टुकड़े टुकड़े कर दिए गए. पिछले हफ्ते के मंगलवार से जमाल लापता हैं.

मंगलवार को वह सऊदी अरब कॉन्सुलेट में अपनी शादी के पेपर लेने के लिए अंदर गए थे. बाहर उनकी मंगेतर इंतजार कर रही थीं, दोनों अगले महीने शादी करना चाहते थे. लेकिन वह वापस नहीं लौटे. इसके बाद जब उन्हें खोजने की मांग की गई तो सऊदी अरब कॉन्सुलेट ने कहा कि वह तो अपने कागज लेकर तुरंत चले गए थे.

तुर्की पुलिस का दावा : सऊदी अरब कॉन्सुलेट के अंदर हुई पत्रकार की हत्या

बता दें कि एक समय जमाल खागोशी सऊदी अरब की रॉयल फैमिली के बहुत करीब थे. वह वहां के मुख्य सलाहकार भी रह चुके हैं. लेकिन पिछले साल उनके और रॉयल फैमिली के संबंध बिगड़े. उन्हें सऊदी अरब छोड़ना पड़ा था. उनका दावा था कि उन्होंने यमन में सऊदी अरब सरकार की नीतियों की आलोचना की, इसकी कीमत उन्हें चुकानी पड़ी.

डोनाल्ड ट्रंप से शादी करने से पहले इस शख्स से रोमांस करती थीं मेलानिया

एपी से बातचीत करते हुए जमाल के दोस्त तुरान किसलाकी ने कहा, कॉन्सुलेट के अंदर उनका बेरहमी से कत्ल कर दिया गया है. एक अधिकारी से बातचीत का दावा करते हुए किसलाकी ने कहा कि उन्हें पहले बेहोशी की हालत में लाया गया था, हत्या के बाद उनके शव के टुकड़े टुकड़े कर दिए गए. इस केस पर तुर्की के राष्ट्रपति रेसेप तैयप एर्दोगन का कहना है कि वह मामले पर बारीकी से नजर रखे हुए हैं.