नई दिल्ली पोलैंड के गिलवाइस में चल रही महिलाओं की13वीं अंतरराष्ट्रीय सिलेसियन मुक्केबाजी चैंपियनशिप में भारत के दो मेडल पक्के हो गए हैं। पूर्व विश्व चैंपियन और एशियन गेम्स की ब्रॉन्ज मेडल विजेता एल सरिता देवी और एमसी मैरीकॉम ने सेमीफाइनल में जगह बनाई और भारत के लिए मेडल पक्के कर लिए मैरीकॉम पहले ही बिना रिंग में उतरे सेमीफाइनल में जगह बना चुकी हैं। सरिता ने 60 किग्रा वर्ग के पहले दौर में कजाखस्तान की ऐजान खोजाबेकोवा को हराने के बाद चेक गणराज्य की एलेना चेकी को 5-0 से शिकस्त दी। वे सेमीफाइनल में कजाखस्तान की ही करीना इब्रागिमोवा से भिड़ेंगी।

खिलाड़ियों के छोटे ड्रॉ के कारण सेमीफाइनल में पहुंची मैरी कॉम
पांच बार की विश्व चैंपियन और ओलंपिक ब्रॉन्ज मेडल विजेता मैरीकॉम ने अब तक रिंग में पैर रखे बिना ही 48 किग्रा लाइट फ्लाइवेट वर्ग में खिलाड़ियों के छोटे ड्रा के कारण सेमीफाइनल में जगह बना ली है। भारत की पहली और एशियन गेम्स की एकमात्र स्वर्ण मेडल विजेता मुक्केबाज मैरीकॉम फिटनेस मुद्दों के कारण जकार्ता एशियन गेम्स से बाहर रहने के बाद रिंग में वापसी कर रही हैं।

रितु ग्रेवाल को भी मिली जीत
अन्य भारतीयों में रितु ग्रेवाल ने रूस की स्वेतलाना रोजा के खिलाफ 4-1 की जीत से 51 किग्रा वर्ग के सेमीफाइनल में जगह बनाई जबकि लवलीना बोरगोहेन (69 किग्रा) चेक गणराज्य की मार्टिना श्मोरानजोवा को हराकर अंतिम चार में पहुंच गई हैं।सीमा पूनिया (81 किग्रा से अधिक), प्विलाओ बासुमैत्री (64 किग्रा) और शशि चोपड़ा हालांकि अपने-अपने मुकाबले हारकर मेडल की दौड़ से बाहर हो गई।

सीमा को कजाखस्तान की लजात कुंगेबायेवा ने 5-0 से हराया जबकि बासुमैत्री को पोलैंड की नतालिया बारबुसिन्सका ने इसी अंतर से हराया। शशि के भी इंग्लैंड की एंजिला चैपमैन के खिलाफ इसी अंतर से हार का सामना करना पड़ा।