जयपुर:प्रदेश में कोरोना संक्रमण बढ़ने के साथ अब जांच रिपोर्ट पर भी भ्रम का संक्रमण फैल गया है। एक माह पहले कोरोना से ठीक हुए नागौर से आरएलपी सांसद हनुमान बेनीवाल की दो अलग-अलग जांच रिपोर्ट आई हैं। दिल्ली की रिपोर्ट में उन्हें पॉजिटिव जबकि जयपुर की रिपोर्ट में निगेटिव बताया गया है।

ऐसे में सवाल उठ रहा है कि किसे सही माना जाए? दरअसल, सोमवार से शुरू हुए लोकसभा सत्र से पहले उन्होंने 11 सितंबर को लोकसभा परिसर में जांच कराई थी। 13 सितंबर को लोकसभा सचिवालय ने पॉजिटिव होने की सूचना दी। तब बेनीवाल जयपुर में थे।

उन्होंने उसी दिन एसएमएस में दोबारा सैंपल दिया। सोमवार को उन्हें निगेटिव बताया गया। बेनीवाल के अनुसार- 6 अगस्त से अब तक उनकी 3 रिपोर्ट निगेटिव व एक पॉजिटिव आ चुकी हैं। इधर, संसद सत्र के पहले दिन 25 सांसदों को कोरोना निकला है। इनमें लोकसभा के 17 व राज्यसभा के 8 सांसद हैं।

सवाल- रिकवरी के बाद दोबारा संक्रमण तो नहीं?
बेनीवाल एक माह पहले ही कोरोना से ठीक होकर डिस्चार्ज हुए थे। इसके बाद 14 दिन होम क्वारेंटाइन रहे थे। जांच रिपोर्ट पर संशय के बीच दोबारा संक्रमण को लेकर भी सवाल पैदा हो रहे हैं। क्योंकि केंद्र अब तक दोबारा संक्रमण के केसों को नकार रहा है।

बेनीवाल ने ट्वीट किया- मैं पूर्ण रूप से स्वस्थ हूं ! मेरी आज तीसरी रिपोर्ट निगेटिव आई है। मैंने मेडिकल प्रोटोकॉल के अनुसार पहली रिपोर्ट निगेटिव आने के बाद निश्चित होम क्वारेंटाइन की अवधि पूर्ण की! आखिर किस रिपोर्ट को सही माना जाए?

गौरतलब है कि हनुमान बेनीवाल करीब 1 महीने पहले ही कोरोना से ठीक होकर डिस्चार्ज हुए थे। उनका करीब 11 दिन जयपुर के आरयूएचएस अस्पताल में इलाज चला था। पॉजिटिव से निगेटिव आने के बाद उन्हें डिस्चार्ज कर दिया गया था। जिसके बाद वे 14 दिन होम क्वारैंटाइन भी रहे।

  • मैंने लोकसभा परिसर में कोविड-19 की जांच करवाई तो रिपोर्ट पॉजिटिव आई। उसके बाद जयपुर स्थित एसएमएस मेडिकल कॉलेज में जांच करवाई तो रिपोर्ट निगेटिव आई। दोनों रिपोर्ट में से किसे सही माना जाए? हालांकि मैं पूर्ण रूप से स्वस्थ हूं। - हनुमान बेनीवाल, सांसद, नागौर

कीचड़ में शंख बजाकर कोरोना को हराने का दावा करने वाले टोंक सांसद जौनापुरिया भी संक्रमित

कीचड़ में शंख बजाकर कोरोना को हराने का दावा करने वाले टोंक-सवाई माधोपुर से भाजपा सांसद सुखबीर सिंह जौनापुरिया भी अब कोरोना की चपेट में आ गए हैं। कुछ दिन पहले ही उनका एक वीडियो वायरल हुआ था, जिसमें वे फाॅर्म हाउस के एक खेत में मिट्टी में बैठकर शंख बजाते हुए दिख रहे हैं। इसमें जौनापुरिया ने दावा किया- ‘शंख बजाएं, बारिश में भीगें, धूप में चलें। कोरोना कभी नहीं होगा। मैं दो मिनट तक शंख बजा लेता हूं। इसलिए कोरोना क्या कोई दूसरी बीमारी भी पास नहीं आ सकती।’