नई दिल्ली:नौसेना ने पांच गश्ती जहाजों की सप्लाई नहीं करने पर अनिल अंबानी की कंपनी रिलायंस नेवल एंड इंजीनियरिंग लिमिटेड (आरएनईएल) की बैंक गारंटी जब्त कर ली है। सौदा 2500 करोड़ रुपए का था। नौसेना प्रमुख सुनील लांबा ने सोमवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस में यह जानकारी दी। हालांकि, उन्होंने यह नहीं बताया कि बैंक गारंटी की रकम कितनी थी।

जहाजों की सप्लाई के लिए दूसरी कंपनियों से बात संभव: नेवी

नौसेना प्रमुख ने कहा कि आरएनईएल तय समय में जहाजों की सप्लाई नहीं कर सकी। मामले में आरएनईएल के साथ कोई रियायत नहीं बरती जा रही है। हालांकि, उसके साथ करार अभी रद्द नहीं किया गया है। मामले की और जांच की जा रही है। नौसेना जांच रिपोर्ट देखकर अगला कदम उठाएगी। आईडीबीआई कंपनी को दिए गए कर्ज भुगतान की सूची दोबारा बना रहा है। बैंक ने कंपनी के खिलाफ अदालत का दरवाजा खटखटाया है। जहाजों की सप्लाई के लिए नौसेना सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनियों से भी बात कर सकती है। इस सौदे में लार्सन एंड टूब्रो पहले से शामिल है। 

नए जहाज महिला अफसरों की तैनाती के अनुकूल होंगे
नौसेना प्रमुख लांबा ने बताया कि नौसेना में और 56 जंगी जहाज शामिल करने की योजना है। इनमें लड़ाकू पनडुब्बियां भी होंगी। ये निर्माणाधीन 32 जहाजों से अलग होंगे। नए जहाज महिला अफसरों की तैनाती के लिहाज से बनाए जाएंगे। नौसेना के पास पहले से विक्रमादित्य और कोलकाता क्लास जैसे जहाज हैं। ये महिला अफसरों के लिए उपयुक्त हैं। तीसरा एयरक्राफ्ट कैरियर जहाज लाने की प्रक्रिया शुरू की जा चुकी है।