जयपुर: राजस्थान हाईकोर्ट ने आरएएस भर्ती परीक्षा परिणाम निरस्त करते हुए नए सिरे से परिणाम जारी करने के आदेश दिए हैं। जस्टिस वीएस सिराधना की बेंच ने सोमवार को सुनाए अपने फैसले में आरएएस 2012 के आबकारी विभाग के मंत्रालयिक कर्मचारियों के 14 रिक्त पदों को शामिल करते हुए नए सिरे से परिणाम जारी करने के आदेश दिए। इस फैसले से उन सभी अभ्यर्थियों को तगड़ा झटका लगा है जो इस भती में चयन होने के बाद नियुक्ति का इंतजार कर रहे थे। 

हाईकोर्ट ने ये आदेश याचिकाकर्ता दीपेंद्र सिंह राठौड़ की याचिका पर सुनवाई करते हुए दिए। कोर्ट आरपीएससी व राज्य सरकार को इन पदों को 2016 की भर्ती में शामिल करने के आदेश दिए। अधिवक्ता विज्ञान शाह ने कोर्ट को बताया कि आरएएस 2012 के आबकारी विभाग के मंत्रालयिक कर्मचारियों के 14 पदों पर किसी का चयन नहीं हुआ।

इसलिए दिया यह फैसला

आबकारी नियमों के अनुसार ऐसे पदों को अगले साल की भर्ती में शामिल किया जाना था। वहीं 2013 की भर्ती 2012 का परिणाम आने से पहले पूरी हो चुकी थी। इसलिए ये पद उसमें शामिल नहीं हो सकते थे, लेकिन 2016 की आरएएस भर्ती 2012 का परिणाम आने के बाद निकली फिर भी उसमें इन पदों को शामिल नहीं किया गया।