जयपुर:पर्यावरण राज्य मंत्री सुखराम विश्नोई ने विधानसभा में कहा कि वायु प्रदूषण को दूर करने के लिए राजस्थान राज्य प्रदूषण नियंत्रण मंडल द्वारा राज्य में विभिन्न जगह विजिलेंस स्क्वॉड का गठन किया गया है. साथ ही, 496 उद्योगों की जांच कर 9.70 करोड़ रुपये की पैनेल्टी भी लगाई गई है. विश्नोई विधानसभा में प्रश्नकाल में विधायकों द्वारा पूछे गये पूरक प्रश्नों का जवाब दे रहे थे. उन्होंने कहा कि भिवाड़ी में 904 इकाईयां है, जिसके लिए सीएटीपी बनी हुई है.

उन्होंने कहा कि विभाग को अब तक मिली शिकायतों में 17 फैक्टि्रयों के कनेक्शन काट दिये गये हैं तथा 4 शिकायतें इसी महिनें मिली है जो निस्तारित होनी शेष है. उन्होंने बताया कि वायु प्रदूषण की दृष्टि से भिवाड़ी में 3 मानक चलित यंत्र तथा एक सर्विलांस सेन्टर चल रहा है. साथ ही उन्होने कहा कि उद्योगों द्वारा वायु प्रदूषण को कम करने के लिए राजस्थान राज्य प्रदूषण नियंत्रण मंडल द्वारा अलवर, पाली, जोधपुर ,भिवाड़ी सहित सभी जगह विजिलेंस स्कवॉड का भी गठन किया गया है.

वहीं, 496 उद्योगों की जांच कर उन पर 9.70 करोड़ रुपये की पैनेल्टी भी लगाई गई है. इससे पहले विधायक संदीप कुमार के मूल प्रश्न के लिखित जवाब में विश्नोई ने बताया कि विधानसभा क्षेत्र तिजारा में कुछ फैक्टि्रयों के द्वारा भारी प्रदूषण फैलाये जाने के संबंध में राजस्थान राज्य प्रदूषण नियंत्रण मंडल के संज्ञान में नहीं हैं.

राजस्थान राज्य प्रदूषण नियंत्रण मंडल द्वारा समय समय पर उद्योगों का निरीक्षण किया जाता है.वहीं, इस निरीक्षण के दौरान कतिपय उद्योगों द्वारा अवहेलना अथवा प्रदूषण करते हुये पाये गये उद्योगों के विरूद्ध कार्यवाही की जाती है, उन्होंने राजस्थान राज्य प्रदूषण नियंत्रण मंडल द्वारा की गई कार्यवाही का विवरण सदन के पटल पर रखा.