जयपुर:राजस्थान में कोरोना वायरस संक्रमण (Corona Infection) से रविवार को नौ और मौत दर्ज की गयी, जिससे राज्य में संक्रमण से मरने वालों की कुल संख्या 456 हो गई है. इसके साथ ही राज्य में अब तक के सबसे अधिक 632 नये मामले (Corona Cases) सामने आने से राज्य में इस घातक वायरस से संक्रमितों की कुल संख्या 20,164 हो गयी है. इनमें से 3,780 मरीज इलाजरत हैं.

एक अधिकारी ने बताया कि रविवार को जोधपुर में छह, कोटा, बीकानेर और उदयपुर में एक-एक संक्रमित की मौत दर्ज की गई. इससे राज्य में कोरोना वायरस संक्रमण से मरने वालों की कुल संख्या 456 हो गई है. उन्होंने बताया कि केवल जयपुर में कोरोना वायरस संक्रमण से मरने वालों की संख्या 163 हो गयी है, जबकि जोधपुर में 59, भरतपुर में 39, कोटा में 24,अजमेर में 19, बीकानेर में 17, नागौर में 12 और धौलपुर में 10 संक्रमितों की मौत हो चुकी है. अन्य राज्यों के 30 रोगियों की भी यहां मौत हुई है.

रविवार को 632 नये मामले सामने आए

उन्होंने बताया कि रविवार रात साढ़े आठ बजे तक राज्य में संक्रमण के 632 नये मामले सामने आये. इनमें प्रतापगढ में 65, जोधपुर-बीकानेर में 57-57, अलवर-जयपुर में 47-47, पाली में 46, जालौर में 41, राजसमंद में 37, भरतपुर में 34, अजमेर में 31, नागौर में 30, धौलपुर में 28, सिरोही में 27, झुंझुनूं में 15, सीकर में 12, उदयपुर में 10, कोटा में 8, दौसा-बाडमेर में 7-7, चूरू में 5, बारां में 4, टौंक-झालावाड़-भीलवाड़ा और अन्य राज्यों से आये 3-3, करौली-हनुमानगढ़ में दो-दो, और डूंगरपुर में एक नये मामले शामिल हैं. राज्यभर में कोरोना वायरस संक्रमण के कारण कई थाना क्षेत्रों में कर्फ्यू लगा हुआ है.

राजस्थान ने प्रतिदिन 41 हजार से ज्यादा जांच (Test) करने की क्षमता बना ली है. अब राज्य में 50 हजार से ज्यादा जांच करने का लक्ष्य रखा गया है. चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री डॉ रघु शर्मा (Dr. Raghu Sharma) ने बताया कि प्रदेश के 20 जिलों में कोरोना टेस्टिंग की सुविधा शुरू हो चुकी है, शेष बचे जिलों में भी शीघ्र ही इसकी जांच होने लगेंगी. आज ही 41 हजार जांच प्रतिदिन जांच का लक्ष्य हासिल किया. स्वास्थ्य मंत्री ने बताया कि प्रदेश में जब पहला कोरोना वायरस का मामला सामने आया था, तब कोरोना के सैंपल पुणे की लैब में जांचने के लिए भेजे जाते थे. मुख्यंमत्री अशोक गहलोत के नेतृत्व में आज राज्य ने प्रतिदिन 41 हजार 450 से ज्यादा जांच करने की क्षमता विकसित कर ली है. उन्होंने कहा कि जल्द ही प्रदेश 50 हजार से ज्यादा जांच करने की भी क्षमता हासिल कर लेगा.