जयपुर, अजमेरी गेट स्थित राजस्थली शोरूम और राजस्थली मॉल को नया आकर्षक, विविधीकृत और आधुनिक रूप देते हुए प्रदेश के हस्तशिल्पियों के उत्पादों को सुरुचिपूर्ण व आकर्षक तरीके से प्रदर्शित किया जाएगा। प्रमुख शासन सचिव एमएसएमई और एमडी राजसिको डॉ. सुबोध अग्रवाल ने विशेषज्ञ श्रीप्रसाद विडप्पा के साथ राजस्थली का दौरा कर नवीनीकरण व बेहतर उपयोग पर विस्तार से चर्चा की। डॉ. अग्रवाल ने बताया कि राजस्थली में हस्तशिल्पियों के उत्पादों के डिसप्ले को नया रूप देते हुए विजिवल व केटेगरिकल डिस्प्ले, मेजर क्राफ्ट पर सेल्फ स्पिकिंग राइट अप, प्रोपर टेगिंग, प्रोपर लाइटिंग, क्वालिटी मर्चेंडाइज, क्रेडिट टू क्राफ्टमेन आदि का सुरुचिपूर्ण तरीके से प्रस्तुतिकरण किया जाएगा। उन्होंने बताया कि प्रदर्शन व बिक्री के लिए हस्तशिल्प उत्पादों के चयन, गुणवत्ता, मूल्य आदि के साथ ही हस्तशिल्प को भी पहचान दिलाई जाएगी। साथ ही उन्होंने बताया कि राजस्थली को राजस्थानी हस्तशिल्पियों के उत्पादों के प्रदर्शन और बिक्री को शोकेस के रूप में विकसित किया जाएगा ताकि देशी विदेशी पर्यटक राजस्थानी हस्तषिल्प से रूबरू होने के साथ ही उचित मूल्य पर खरीदारी कर सकें। उन्होंने राजसिको के अधिकारियों को दिए गए सुझावों के अनुसार कार्य शुरू करने के निर्देश दिए।