नई दिल्ली:देहरादून में भारी बारिश से सात लोगों की मौत हो गई है. देहरादून के कई इलाकों में भारी बारिश की वजह से जगह-जगह पानी भर गया है. रिस्पना नदी के रौद्र रूप ने काफी नुकसान पहुंचाया है.जिलाधिकारी ने भारी बारिश को देखते हुए सभी स्कूलों को बंद करने के आदेश जारी किया है.स्कूलों के साथ-साथ आंगनबाड़ी केंद्रों की भी छुट्टी की गई है.बारिश के वजह से राजधानी देहरादून की सड़कों ने नालों का रूप ले लिया है।

देहरादून में भारी बारिश की वजह से जनजीवन पूरी तरह ठप हो गया है. देहारदून के सीमा द्वार पर मकान क्षतिग्रस्त होने से चार लोगों की मौत हो गई डालनवाला में पानी मे बहने से एक व्यक्ति की मौत की पुष्टि हुई है.वहीं बल्लीवाला और सहसपुर क्षेत्र में भी दो लोगों की नदी में बहने से मौत हो गई. भारी बारिश की वजह से सैकड़ों घरों में पानी और मलबा घुस गया है.इसके चलते घरों में रखा सामान खराब हो गया है.रिस्पना नदी के रौद्र रूप ने काफी नुकसान पहुंचाया है.लाडपुर में तो एक कार पानी के तेज बहाव में बह गई।षबताया जा रहा है कि जो गाड़ी पानी के तेज बहाव में बही, उस वक्त उस गाड़ी में कोई सवार नहीं थी।

देहरादून में मंगलवार (10 जुलाई) देर रात से लगातार मसूलाधार बारिश हो रही है. मौसम विभाग ने देहरादून समेत पहाड़ी ज़िलों में भारी बारिश का अलर्ट जारी किया हुआ था भारी बारिश के चलते मसूरी से टिहरी आने वाली सड़क पर सुरकंडा के पास पहाड़ियों से मलबा और पत्थर आने से मार्ग बंद हो गया है.लगातार हो रही बारिश के चलते रास्ते को खोलने में काफी परेशानी हो रही है. सड़क बंद होने के चलते हाई-वे पर गाड़ियों की लंबी कतार लग गई है।

टिहरी जिले के कई हिस्सों में हुई मूसलाधार बारिश ने लोगों के लिए परेशानी खड़ी कर दी है. भारी बारिश के कारण ऋषिकेश गंगोत्री हाईवे आगराखाल के पास बंद हो गया है. मौके से मलबा हटाने के लिए कई जेसीबी मशीनों को लगाया गया है।