वडोदरा, कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने मंगलवार को राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) में महिलाओं के नहीं होने की बात कहते हुए सत्तारूढ भाजपा के महिला सशक्तिकरण के दावे पर हमला बोला। उन्होंने यह भी दावा किया कि देश के सकल घरेलू उत्पाद यानी जीडीपी में वृद्धि दर गिर कर वास्तव में 4.2 प्रतिशत रह गई है। गांधी ने मोदी सरकार पर मीडिया को डराने का भी आरोप लगाया तथा यह भी कहा कि गुजरात में भाजपा सरकार ने शिक्षा को ज्ञान केंद्रित की जगह लाभ केंद्रित बना दिया है।

कांग्रेस नेता ने सुबह यहां सयाजी हॉल में युवा वर्ग के साथ संवाद के दौरान कहा कि महिला सशक्तिकरण की बात करने वाली भाजपा के संगठन आरएसएस में एक भी महिला क्यों नहीं है। ‘आरएसएस में किसी ने एक भी महिला को देखा है। इसकी शाखाओं में भी किसी ने ऐसा देखा है। मैंने तो नहीं देखा। पता नहीं महिलाओं ने क्या गलती की है कि इसमें एक भी महिला नहीं। जबकि कांग्रेस में ऐसा नहीं है। इसमें हर स्तर पर महिलाओं की भागीदारी है।

एक प्रश्न के उत्तर में उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार ने तथा प्रधानमंत्री मोदी ने नोटबंदी और जीएसटी जैसे प्रहार कर देश की अर्थव्यस्था को नष्ट कर दिया है। जीडीपी की वृद्धि दर पुरानी प्रणाली के अनुसार जिस पर हमारी सरकार काम करती थी असल में गिर कर 4.2 प्रतिशत पर आ गई है। बेरोजगारी की स्थिति भयावह हो गई है। पर ये लोग किसी की सुन नहीं रहे। गांधी ने कहा कि मोदी सरकार मीडिया को भी डराती है।

यही कारण हैं कि भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के बेटे जय शाह के कंपनी के बारे में समाचार को किसी भी बडे चैनल ने प्रमुखता से नहीं दिखाया। मीडिया के मित्र भी डरते हैं, घबराते हैं। उन्होंने मोदी सरकार पर गिने चुने उद्योगपतियों की मदद करने का आरोप दोहराया और उनके करीबी कहे माने जाने वाले अडानी समूह की खदान परियोजना के खिलाफ ऑस्ट्रेलिया में हो रहे प्रदर्शन का भी जिक्र किया। उन्होंने कहा कि कांग्रेस की सरकार आने पर गुजरात में शिक्षा के केंद्र में मुनाफाखोरी की जगह ज्ञान को लाया जाएगा।