शिमला, राष्ट्रपति पद के चुनाव के लिए हो रहे मतदान में सोमवार को हिमाचल प्रदेश के सभी 67 विधायकों ने अपने मताधिकार का उपयोग किया। इस पद के लिए एनडीए के रामनाथ कोविंद का यूपीए उम्मीद्वार मीरा कुमार से मुकाबला है। हिमाचल प्रदेश की 68 सदस्यीय विधानसभा में कांग्रेस के एक विधायक करन सिंह के निधन के बाद एक सीट रिक्त पड़ी है।

सत्तारूढ़ कांग्रेस और विपक्षी दल भाजपा के विधायक दस बजे विधानसभा में एकत्र हुए और मतदान शुरू हुआ। यहां मुख्य संसदीय सचिव आईडी लखनपाल ने सबसे पहले मतदान किया। भाजपा के 28 विधायकों और एक निर्दलीय विधायक के मतदान करने के बाद मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह तथा कांग्रेस के विधायकों ने मतदान किया। राष्ट्रपति पद के लिए वोटों की गिनती 20 जुलाई को होगी।