गुजरात:गुजरात में मॉनसून आए या ना आए लेकिन राजनीतिक बौछारों से प्रदेश ज़रूर भीगेगा. आप हैरान न हों, ये मौसम विभाग की जानकारी नहीं है. ये राजनीतिक दलों का प्रोग्राम है जो आने वाले सप्ताह में प्रदेश और समूचे देश को भिगो सकता है.

अगले हफ्ते गुजरात में राजनीतिक सरगर्मी बढ़ने वाली है. तीन बड़े नेता 12 जुलाई से 20 जुलाई के दौरान गुजरात का दौरा करेंगे. जिसकी शुरुआत होगी "राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ" की “राष्ट्रीय कार्यकारिणी” से. इसके अलावा प्रदेश में कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी का दौरा भी होगा. साथ ही प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी भी गुजरात का दौरा करेंगे.

प्राप्त जानकारी के अनुसार, 12 जुलाई से 18 जुलाई के दौरान आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत के नेतृत्व में 'राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ" की कार्यकारिणी सोमनाथ (गिर-सोमनाथ जिला) में आयोजित होगी. जिसमें संघ के पूर्णकालिन प्रचारक, सभी राज्यों के प्रांत प्रचारक शामिल होंगे और लोकसभा चुनाव से पहले महत्वपूर्ण पहलुओं पर चर्चा करेंगे. ये बैठक पिछले साल हरियाणा में आयोजित की गई थी. इस बैठक में बीजेपी के कुछ वरिष्ठ नेता भी शामिल हो सकते हैं.

वही दूसरी और कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी 16-17 जुलाई को गुजरात की दो दिवसीय यात्रा पर होंगे. लोकसभा चुनाव रणनीति के तहत, राहुल गांधी दोनों दिन 16-17 जुलाई को सौराष्ट्र की यात्रा करेंगे. इन दो दिनों के दौरान, वो किसानों और श्रमिकों के साथ संवाद करेंगे और भावनागर के मेथडा गांव में गाववालों द्वारा तैयार किये गए "मैन मेड रिजर्वायर" भी देखेंगे. इसके अलावा, अलंग शिपिंग यार्ड के मजदूरों, अमरेली जिले में धारी के जंगलों में चरवाहों और प्रसिद्ध कथाकार मोरारी बापू के साथ भी बातचीत करेंगे.

राहुल और भागवत की यात्रा खत्म होने के बाद 20 जुलाई से प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी का गुजरात प्रवास सूरत से शुरू होगा. सूरत हवाई अड्डे से वो वलसाड का रुख करेंगे. वलसाड में "प्रधानमंत्री आवास योजना" के तहत बने दो लाख घरों का लोकार्पण होगा. यहां से दोपहर बाद वो जूनागढ़ मेडिकल कॉलेज और अस्पताल का उद्घाटन करेंगे. शाम को गांधीनगर एफएसएल विश्वविद्यालय के दीक्षांत समारोह में उपस्थित होने के बाद वो देर शाम दिल्ली पहुंचेंगे.