नई दिल्ली, यात्री कारें बनाने वाली देश की सबसे बड़ी कंपनी मारति सुजुकी इंडिया ने देश में कारोबार के वातावरण में अनिश्चित बढऩे की शिकायत करते हुए कहा है कि उद्योगों के लिए काम काज का समुचित वातावरण बनाने में नीतिगत स्थिरता तथा विश्वसनीयता की भूमिका महत्वपूर्ण है। कंपनी के प्रबंध निदेशक और मुख्य कार्यकारी अधिकारी केनिचि आयुकावा ने वार्षिक रिपोर्ट 2016-17 में शेयरधारकों को संबोधित करते हुए कहा कि तेजी से बदलते नियमों ने गतिमान कारोबारी माहौल सृजित किया है लेकिन वाहन उद्योग नीतियों के प्रति काफी संवेदनशील होता है और इसीलिये नियमों में एक बदलाव हमारी वृद्धि तथा तकनीक एवं विनिर्माण की दिशा पर दूरगामी असर डाल सकता है।

उन्होंने कहा, पिछले साल हमने एक महत्वपूर्ण बात सीखी कि कारोबारी माहौल अधिक से अधिक अनिश्चित होता जा रहा है और कंपनी को इस तरह के गैर आनुमानित रकावटों से निपटने के लिए मजबूत होना होगा। वित्त वर्ष 2016-17 को घटनाओं वाला तथा गतिमान साल बताते हुए उन्होंने कहा, दो महत्वपूर्ण आपूर्तिकर्ताओं का परिचालन आग के कारण बाधित होने से हमारे सामने अल्पकालिक रकावटों के रूप में चुनौतियां आयीं। नोटबंदी के बाद भी शुरआती अनिश्चितता रही। इन सब गैर आनुमानित घटनाओं के बावजूद हमारे शेयर मजबूत हुए और हम अपने परिवार में अधिक से अधिक उपभोक्ताओं को जोडऩे में सफल रहे।

आयुकावा ने कहा, उद्योगों की पारिस्थितिकी को विकसित करने के लिए नीतिगत स्थिरता और पूर्वानुमान महत्वपूर्ण है। इससे उद्योग जगत को दक्षता बढ़ाने में मदद मिलती है और यह स्पष्ट होता है कि किन लक्ष्यों और प्रौद्योगिकी पर काम किया जाए। उन्होंने आगे कहा, हम सरकार के साथ मिलकर उन नीतियों पर काम कर रहे हैं जिनसे हमारे कार सुरक्षित, पर्यावरण हितैषी तथा भारतीय उपभोक्ताओं के लिए अधिक फायदेमंद हो सकें।

कंपनी के अध्यक्ष आरसी भार्गव ने इलेक्ट्रिक वाहनों को प्रोत्साहित करने के सरकार के निर्णय का स्वागत करते हुए कहा कि जैसे ही इन वाहनों के लिए उपभोक्ताओं के तैयार हो जाने के संकेत हमें मिले, हम भी इलेक्ट्रिक वाहन लांच करने से पीछे नहीं हटेंगे। उन्होंने कहा, ईधन की खपत में कमी लाने के प्रयास जरूर जारी रहने चाहिए। हाइब्रिड प्रौद्योगिकी से इस संबंध में महत्वपूर्ण परिणाम मिल रहे हैं और ये उपभोक्ताओं को भी स्वीकार्य हैं।