नई दिल्ली, कर्नाटक चुनाव के बाद से लगातार 8वें दिन पेट्रोल-डीजल की कीमतें बढ़ाई गई हैं। सोमवार को दिल्ली में पेट्रोल 76.57 रुपए हो गया है वहीं डीजल का भाव 67.82 रुपए पहुंच गया है। 13 मई के बाद से अब तक दिल्ली में पेट्रोल 1.94 रुपए प्रति लीटर रुपए महंगा हो चुका है। यहां रविवार को पेट्रोल की कीमत सबसे उच्च स्तर पर पहुंच गईं और बढ़ोतरी का सिलसिला जारी है। इससे पहले 14 सितंबर 2013 को दिल्ली में पेट्रोल 76.06 रुपए था। यहां डीजल पहले से ही लाइफटाइम हाई पर बना हुआ है और हर रोज नए रिकॉर्ड बना रहा है। इस बीच, पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने माना कि आम जनता को परेशानी हो रही है।

तेल कीमतों पर जल्द लगाम लगेगी: प्रधान

- न्यूज एजेंसी के मुताबिक, पेट्रोलियम मंत्री ने कहा, ''मैं स्वीकार करता हूं कि तेल कीमतों में बढ़ोतरी से देश की जनता और खास तौर से मिडिल क्लास को काफी परेशानी हो रही है। इसके पीछे वजह तेल कंपनियों के प्रोडक्शन में कमी और अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमतों में आई तेजी है। भारत सरकार जल्द ही इसका समाधान ढूंढ़ लेगी।''

- दूसरी ओर, दिल्ली में बढ़ती तेल कीमतों पर लोगों ने कहा कि सरकार को महंगाई पर लगाम लगाने के लिए एक्साइज ड्यूटी घटनी चाहिए। मुंबई के उपभोक्ताओं ने कहा कि मुंबई में दिल्ली और गुजरात की तुलना में पेट्रोल इतना महंगा क्यों है? लोगों को रोजाना करीब 120 रुपए तक पेट्रोल पर खर्च करने पड़ रहे हैं।

एक्साइड ड्यूटी में कटौती के संकेत नहीं
- कर्नाटक चुनाव के दो हफ्ते पहले से ही पेट्रोल और डीजल रिकॉर्ड स्तर पर पहुंच गए लेकिन इस दौरान हर बार सरकार की ओर से बयान आया कि एक्साइड ड्यूटी नहीं घटाई जाएगी। रविवार को भी पेट्रोलियम मंत्री ने ऐसे ही संकेत दिए।