जयपुर. जवाहर नगर इलाके में शुक्रवार दोपहर शर्मसार कर देने वाली घटना हुई। यहां एक युवक ने नाबालिग किशोरी के साथ टिक-टॉक पर वीडियो बनाया तो किशोरी के भाई ने अपने दोस्तों के साथ मिलकर उसे निर्वस्त्र कर बेल्ट से पीटा। इसके बाद आरोपी उसका वीडियो बनाते हुए जवाहर नगर मुख्य सड़क से घुमाते हुए उसके घर तक ले गए। इतना ही नहीं उसका वीडियो तक वायरल कर दिया गया।

केस: घटना के बाद लड़का डर के मारे घर में ही दुबका रहा। वीडियो वायरल हुआ तो अगले दिन शनिवार को पीड़ित परिवार वालों के साथ थाने में मामला दर्ज करवाने पहुंचा। किशोरी के भाई सहित तीन नामजद व अन्य के खिलाफ आईटी एक्ट और मारपीट का केस करवाया। पीड़ितों का आरोप है कि उनके पीछे ही दूसरा पक्ष भी थाने पहुंच गया। पीड़ित युवक पर भी एससी-एसटी और पॉक्सो में मामला दर्ज कराया गया है। 

कहानी: पुलिस के मुताबिक, पीड़ित युवक टीला नंबर 5 और किशोरी टीला नंबर 3 की रहने वाली है। जवाहर नगर में एक होटल में काम करने के दौरान दोनों की पहचान हुई। युवक का किशोरी के साथ एक वीडियो टिक-टॉक पर अपलोड मिलने पर किशोरी के भाई को गुस्सा आ गया। वह शुक्रवार को युवक को काम के बहाने टीला नंबर 3 स्थित खान पर ले गया और घटना को अंजाम दिया।

कार्रवाई: रिपोर्ट दर्ज कराने के दौरान थाने में हंगामा हुआ तो पुलिस ने दोनों पक्षों के 4 लोगों को शांतिभंग में गिरफ्तार किया। वहीं, मारपीट और निर्वस्त्र करने वाले दो लोगों को रविवार को गिरफ्तार किया। मोबाइल से वीडियाे बनाने वाला आरोपी अब भी फरार है।

वीडियो सोशल मीडिया से अब तक नहीं हटा: हैरत की बात ये है कि पुलिस घटना के दो दिन बीत जाने के बावजूद वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल होता रहा।

समाज का ये चेहरा हमें स्वीकार नहीं

4:06 मिनट का यह वीडियो तमाचा है हमारे समाज के इस चेहरे पर, युवक को निर्वस्त्र मेन रोड पर घुमाया जाता है। वीडियो में तमाशबीन लोग मुंह फेरते नजर आ रहे हैं। ठहाके-अट्‌टहास सुनाई दे रहे हैं, लेकिन इस बेशर्मी को रोकने की हिम्मत कोई नहीं दिखा रहा।

क्या समाज साइबर साइको हो रहा है?

ऑनलाइन बदला- युवक के प्रति नाबालिग किशोरी के भाई का गुस्सा जायज हो सकता है। लेकिन विरोध का ऐसा ऑनलाइन बदला ठीक नहीं। इसकी शिकायत पुलिस में की जा सकती थी। हमारा जश्न, हमारी खुशी, हमारा गुस्सा सब ऑनलाइन हो रहा है, जो समाज के साइबर साइको होने की निशानी है।

युवक माफी मांगता रहा, किसी ने क्यों नहीं सुनी?
वीडियो में दिख रहे युवक के एक पैर में चप्पल थी, बाकी पूरा शरीर निर्वस्त्र। गाली-गलौज करते युवकों का रेला उसके पीछे चल रहा था। आरोपी बार-बार यही कह रहे थे कि बहुत शौक है तेरे को वीडियो बनाने का। शर्मनाक पहलू यह था कि सड़क पर घुमाते वक्त वीडियो में ठहाकों की आवाज साफ सुनाई दे रही थी। लेकिन कोई इस गुंडागर्दी को रोकने की हिम्मत नहीं कर पाया। लोग पूछ रहे थे- क्या हुआ? आरोपी जवाब देते रहे कि कुछ नहीं। आरोपी यही बोलते नजर आए कि आज तुझे फेमस करते हैं।


परिवार की युवती बोली- ये ठीक नहीं, शर्म करो! 
पूरे वीडियो में पीड़ित युवक मुंह छिपाता रहा। हर बार यही कहता रहा। माफ कर दो, अब टिक-टॉक पर वीडियाे नहीं बनाऊंगा। वीडियो के आखिरी के 22 सेकंड में एक युवती आरोपियों का विरोध करते दिख रही है। वह कह रही है कि शर्म करो! ये क्या तरीका है? बच्चे के साथ ऐसा क्यों कर रहे हो? इस पर आरोपी कहता है कि मैं बताता हूं तरीका। इतने में युवती पीड़ित को भगाकर घर ले जाती है। बताया जा रहा है कि युवती पीड़ित के परिवार की सदस्य है।