नई दिल्ली, भारत और अमेरिका के दबाव में आकर पाकिस्तान आतंकवादियों के खिलाफ कडी कार्रवाई करने के लिए मजबूर हो गया। पाकिस्तान ने हाफिज सईद के संगठन जमात-उद-दावा को आतंकी संगठन घोषित कर दिया है। पाकिस्तान के राष्ट्रपति ममनून हुसैन ने एक ऐसे ही अध्यादेश पर अपना हस्ताक्षर किया। अध्यादेश का उद्देश्य है संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (यूएनएससी) द्वारा प्रतिबंधित व्यक्तियों और संगठनों पर लगाम लगाना है। इस सूची में जमात-उद-दावा (जेयूडी) के अलवा तालिबान जैसे कई संगठन शामिल है। राष्ट्रपति के हस्ताक्षर के बाद जमात उद दावा घोषित तौर पर आतंकी संगठन की सूची में शामिल हो गया। हालांकि अगर यह अध्यादेश कानून का रूप नहीं लेता है तो समय सीमा खत्म होने के बाद जमात-उद-दावा पर से प्रतिबंध अपने आप हट जाएगा।