नई दिल्ली:वाराणासी सेंट्रल जेल में बंद पाकिस्तानी नागरिक को रिहाई मिल गई है। पाकिस्‍तानी नागरिक जलालुद्दीन रिहाई के बाद अपने साथ भगवद गीता लेकर घर गया है। दरअसल, पुलिस ने  2001 में कुछ संदिग्‍ध दस्‍तावेजों के साथ उसको एयरफोर्स ऑफिस के पास पकड़ा था। वह पाकिस्‍तान के सिंध प्रांत का रहने वाला है। जब जलालुद्दीन को पकड़ा गया था तो उस वक्त वह हाई स्कूल पढ़ा था।

इसके बाद उसने जेल से ही इंटरमीडियट की और इंदिरा गांधी नेशनल ओपन यूनिवर्सिटी यानि इग्‍नू से एमए की पढ़ाई की। इस दौरान उसने इलेक्‍ट्रीशियन का कोर्स भी जेल में ही किया। वह पिछले तीन सालों से जेल क्रिकेट लीग में अंपायर भी था।'' वाराणसी सेंट्रल जेल के सीनियर सुपरिटेंडेंट अंबरीश गौड़ ने बताया ''ऑफिशियल सीक्रेट्स एक्‍ट और फॉरेनर्स एक्‍ट के तहत उसको पकड़ा गया था। रिहाई के बाद उसको स्‍थानीय पुलिस को सौंप दिया गया। वह अपने साथ गीता की कॉपी लेकर गया है।