नई दिल्ली:पाकिस्तान (Pakistan) ने बृहस्पतिवार को 1,210 वोस्ट वांटेड आतंकवादियों की सूची जारी की है. इसमें लिस्ट में मुंबई आतंकी हमले में शामिल हुए दहशतगर्द भी हैं. लेकिन हमले के मास्टमांइड को इस लिस्ट से बाहर रखा गया है. पाकिस्तान के इस रवैये पर भारत ने नाराज़गी जताई है. भारत ने आरोप लगाया है कि पाकिस्तान ने इस लिस्ट से मुंबई आतंकी हमले के मास्टरमाइंड और मुख्य साजिशकर्ताओं के नामों को 'खुलेआम छोड़ दिया है.'

विदेश मंत्रालय नाराज़
भारतीय विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अनुराग श्रीवास्तव ने इस पर कड़ी प्रतिक्रिया देते हुए कहा, 'इस लिस्ट में लश्कर-ए-तैयबा के कुछ आतंकियों के नाम हैं. इसमें मुंबई हमलों में इस्तेमाल हुई नावों के क्रू मेंबरों के भी नाम हैं, लेकिन लिस्ट से हमले के मास्टरमाइंड और मुख्य साजिशकर्ताओं का नाम गायब है. ये लिस्ट ये दिखाता है कि उनके पास मुंबई हमले के सारे सबूत हैं.'

इस लिस्ट में क्या है?
यह सूची संघीय जांच एजेंसी (एफआईए) की आतंकवाद रोधी इकाई ने जारी की है. दिलचस्प बात यह है कि सूची में लंदन में रहने वाले मुत्ताहिदा कौमी मूवमेंट (एमक्यूएम) के नेता अल्ताफ हुसैन और पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज़ (पीएमएल-एन) के कार्यकर्ता नासिर बट्ट का भी नाम है. इस सूची को पीटीआई ने देखा है, जिसमें 2008 के मुंबई हमले में संलिप्त लोगों के नाम और पते भी हैं. सूची में आतंकवादी का नाम, पिता का नाम और आखिरी ज्ञात पता है. साथ में अगर कोई इनाम घोषित किया गया है तो उसकी भी जानकारी है.

मुंबई आतंकी हमले से जुड़े नाम
इसमें शामिल पहले 19 नाम किसी न किसी तरह मुंबई आतंकी हमले से जुड़े हैं. पहला नाम अजमद खान का है. वह लश्कर ए तैयबा का पूर्व सदस्य है. उसने अल फौज़ नौका खरीदी थी जिसका इस्तेमाल मुंबई हमले के दौरान किया गया था. दूसरा नाम इफ्तिखार अली का है. इसकी पहचान लश्कर के पूर्व सदस्य के तौर पर हुई है. सूची में पूर्व राष्ट्रपति परवेज मुशर्रफ और प्रधानमंत्री शौकत अज़ीज़ पर हमले के संदिग्धों के नाम भी शामिल हैं.