पाकिस्तान में PPP के वरिष्ठ नेता फरहतुल्ला बाबर ने प्रधानमंत्री इमरान खान को भारत (India) के साथ रिश्ते सुधारने की सलाह दी है. साथ ही कहा है कि चीन और भारत में दुश्मनी होने के बावजूद इन दोनों देशों के बीच व्यापारिक रिश्ते मजबूत हैं.

1/ 4

news18news18

पाकिस्तान में विपक्षी दलों के बढ़ते दबाव के आगे प्रधानमंत्री इमरान खान (PM Imran Khan) अब बेबस नजर आने लगे हैं. इसी बीच खबर सामने आई है कि पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी (पीपीपी) के वरिष्ठ नेता फरहतुल्ला बाबर ने इमरान खान से भारत (India) के साथ अपना रिश्ता सुधारने के लिए कहा है. उन्होंने उदाहरण देते हुए कहा कि भारत और चीन में दुश्मनी होने के बावजूद आपसी व्यापार अरबों डॉलर का है. (फोटो सौ. न्यूज18 इंग्लिश)

2/ 4

news18news18

साउथ एशियन्स अगेंस्ट टेरेरिज्म एंड फॉर ह्यूमन राइट्स की बैठक में फरहतुल्ला बाबर ने इमरान खान को नसीहत देते हुए कहा कि उन्हें पड़ोसी देश भारत के साथ अपने रिश्ते सुधारने पर जोर देना चाहिए. अगर पाकिस्तान भारत के साथ अपने संबंध अच्छे रखता है तो हमारे लोकतंत्र के साथ अर्थव्यवस्था को भी फायदा पहुंचेगा. उन्होंने भारत और चीन के रिश्ते का उदाहरण देते हुए कहा कि इन दोनों देशों के बीच सीमा विवाद है. बावजूद इसके दोनों के बीच व्यापारिक रिश्ते मजबूत हैं. फिर ऐसा पाकिस्तान क्यों नहीं कर सकता है. (फोटो सौ. न्यूज18 इंग्लिश)

3/ 4

news18news18

फरहतुल्ला बाबर ने पाकिस्तानी सेना पर निशाना साधते हुए कहा कि हमारे जनरल कभी भी देश के संविधान को दिल से स्वीकार नहीं कर पाए हैं. सेना ने आर्थिक लाभ के लिए देश की सत्ता पर अपनी पकड़ रखी है. हमारी संसद भी पाकिस्तानी सेना की जिम्मेदारी तय करने में फेल रही है. सेना ने हमेशा से संघीय और लोकतांत्रिक ढांचे की अनदेखी की है. (फोटो सौ. न्यूज18 इंग्लिश)

4/ 4

news18news18

पाकिस्तानी सेना ने भी अपने ऊपर बढ़ते दबावों को देखते हुए इमरान खान की मदद करने से इनकार कर दिया है. इसी कारण पाकिस्तान आर्मी चीफ के निर्देश पर हाल में ही चीन पाकिस्तान आर्थिक कॉरिडोर के चेयरमैन और पूर्व लेफ्टिनेंट जनरल असीम सलीम बाजवा ने भ्रष्टाचार के आरोपों पर अपना इस्तीफा दे दिया था. अब जल्द ही पाकिस्तानी सेना अपने अधिकतर जनरलों को सरकार की सेवा से हटाने जा रही है.