नई दिल्ली:दिल्ली दंगों में अब तक 37 लोगों की मौत हो चुकी है और अब भी कई लोग अस्पतालों में ज़िंदगी की जंग लड़ रहे हैं. दंगों के मामलों में पुलिस ने कई केस दर्ज किये हैं और खुद दिल्ली पुलिस पर भी वक्त से कार्रवाई नहीं करने के आरोप लग रहे हैं. ऐसे में ज़ी न्यूज़ को दंगों की साज़िश के सबसे बड़े सबूत मिले हैं, जिन्हें देखर आप समझ जाएंगे कि ये दंगे यूं ही अचानक नहीं हो गए, बल्कि ये एक सुनियोजित साज़िश का हिस्सा था, जिसको अंजाम देने में सियासी दल के लोगों का भी हाथ था...और ऐसा ही एक नाम है आम आदमी पार्टी के पार्षद ताहिर हुसैन का...जिसके घर से चल रही थी 'दंगा फैक्ट्री'...

तो ऐसे में सवाल उठ रहे हैं कि क्या पूर्वी दिल्ली के दंगों के पीछे आम आदमी पार्टी के पार्षद ताहिर हुसैन का हाथ था? क्या आप ने कराए दिल्ली में दंगे? दरअसल जो ताहिर हुसैन के घर की तस्वीरें सामने आई हैं. उन तस्वीरों ने अब कोई शक की गुंजाइश नहीं छोड़ी है.

आप के पार्षद ताहिर हुसैन के घर की छत पर पेट्रोल बम का जखीरा - पत्थर से भरे बोरे, गुलेल, इंटे, केमिकल, एसिड वाली थैलियां और भी हमले का बड़ा  जखीरा बरामद हुआ है. इसके अलावा अब तक उनके घर की छत से हमला करने के पेट्रोल बम फेंकने के कई वीडियोज़ सामने आ चुके हैं और तो और जिन आईबी अफसल अंकित शर्मा की बेहरमी से हत्या की गई है उनका परिवार भी ताहिर हुसैन और उनसे जुड़े लोगों पर ही आरोप लगा रहा है.

हालांकि ताहिर हुसैन का भी पक्ष सामने आया है उनका कहना है कि वो तो खुद दंगे के पीड़ित है जो जान बचाकर कैसे भी वहां से जान बचाकर निकले. संजय सिंह भी कह रहे हैं ताहिर तो खुद अपनी जान  बचाकर निकला है. सच क्या है ये तो जांच का विषय है लेकिन इन दंगों का खौफनाक पहलू ये है कि इसमें अब तक 37 लोगों की जान जा चुकी है.